ज़मीन पर बैठकर खाना खाने के हैं कई फायदे, अगर आप हैं दिल के मरीज़ तो जरूर करें ये काम…

0
34

आज कल ज़मीन पर बैठकर खाना खाने में लोगों की शान घट जाती है। हर कोई ज़मीन पर बैठकर खाना खाने में झिझकता है। लेकिन किसी को इसके फायदे नहीं पता। पहले के दौर में केवल ज़मीन पर बैठकर ही खाना खाया जाता था। लेकिन अब लोग डायनिंग टेबल या टेबल-कुर्सी पर बैठकर खाना पसंद करते हैं। देश में आज भी ऐसे कई राज्य हैं जहां शादियों में भी ज़मीन पर बैठाकर खाना खिलाया जाता है। इनमें पश्चिम बंगाल, बिहार, असम, झारखंड और पंजाब का नाम शामिल है।

ज़मीन पर बैठकर खाना खाने के बहुत से फायदे हैं। इससे हम खुद को स्वस्थ रख सकते हैं। साथ ही हम ऐसा कर के खुद को बीमारियों से भी दूर रख सकते हैं। ज़मीन पर बैठकर खाना खाना एक तरह का योग आसन है। जब हम ज़मीन पर बैठ के खाना खाते हैं तो हम एक पैर को दूसरे पैर रखकर बैठते हैं। वह सुखासन या पद्मासन की मुद्रा है। इसके कारण हमारा मानसिक तनाव दूर होता है। इसके साथ ही ऐसा करने से खाना अच्छी तरह पचता है। जब हम ज़मीन पर बैठकर खाना खाते हैं तो हमें खाने के लिए बार बार प्लेट की तरफ झुकना होता है। जिससे पेट की मांसपेशियां निरंतर कार्यरत रहती हैं और पाचन क्रिया भी सही से होती है।

इसके अलावा जब हम बैठकर खाना खाते हैं तो हम अपने घुटने मोड़कर बैठते हैं। इससे घुटनों की भी एक्सरसाइज ही जाती है। ऐसा करने से हमारे कूल्हे के जोड़, घुटने और टखने लचीले बनते हैं। इसके कारण हमरे दर्द नहीं होता। बैठकर भोजन करने से ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर रहता है। साथ ही नसों का खीचाव भी कम हो जाता है। इसके कारण दिल के आसपास का प्रेशर कम रहता। अगर आप दिल के मरीज़ हैं तो अब ज़रूर ज़मीन पर बैठकर खाना खाएं। इससे आपका दिल स्वस्थ रहेगा।