उपचुनाव में बड़ी जीत के बाद तृणमूल की कांग्रेस को नसीहत, कहा “अब नज़रिया बदलना होगा…”

0
77

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव की तरह ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस ने एक बार फिर भाजपा को बड़ा झटका दिया है। विधानसभा चुनाव में बहुमत हासिल कर ममता बनर्जी की पार्टी ने अपनी सरकार बनाई थी। जिसके बाद अब विधानसभा उपचुनाव में अपने प्रतिद्वंद्वियों को बड़े अंतर से हराकर सारी सीट अपने नाम कर ली। बता दें कि उपचुनाव में चार विधानसभा क्षेत्रों में टीएमसी को कुल 75.02 फीसदी वोट मिले, जबकि भाजपा को सिर्फ 14.48 फीसदी वोटों पर रह गई। इस जीत के बाद पार्टी काफी जोश में दिखाई दी। जीत को खुशी में टीएमसी के राज्यसभा सांसद डेरेक ओ ब्रायन कांग्रेस पार्टी को नसीहत देते हुए नजर आए।

उन्होंने विपक्ष से नसीहत दी कि सबको मिलकर काम करना चाहिए। कांग्रेस का नाम न लेते हुए उन्होंने कहा कि “भागीदार हैं। हमें कमतर आंकने की बजाय इस पर एक साथ काम करते हैं। लड़ने की ज़रूरत नहीं है। हमारा एकमात्र लक्ष्य BJP को हराना है।” उन्होंने आगे कहा कि “यह नहीं सोचना चाहिए कि हम 22-23 साल पुराने हैं, दूसरा 100 साल पुराना है। तो दादा-दादी की तरह हमें सलाह की जरूरत नहीं है कि हमें अमित शाह और पीएम मोदी के खिलाफ ज्यादा ऊर्जावान होना चाहिए, इस पर काम करना चाहिए, उस पर काम करना चाहिए। हम लोग पहले से ही अच्छा काम कर रहे हैं।”

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि “देश की इकॉनमी, बोलने की आजादी, महंगाई, रोजगार, महंगाई, पेट्रोल-गैस की कीमतें ये बड़े मुद्दे हैं। विपक्षी एकता पर चर्चा करने की बजाय इन मुद्दों को उठाया जा चाहिए। विपक्षी एकता एक अलग मुद्दा है। ये लोगों के मुद्दे हैं, और यह जरूरी है कि इन मुद्दों को उठाया जाना चाहिए। भाजपा ने 2014 के बाद जो वादे किए थे, उसको लेकर लोगों में उम्मीद थी। लेकिन 2021 हो गया, आपने भी देखा कि क्या काम हुआ है। विपक्ष को भाजपा से लड़ने में साथ काम करने चाहिए।”