लॉकडाउन में भी बिहार में हिंसा चरम पर,दो मज़दूरों पर चली गोली,एक की मौ’त वहीं दूसरा…..,

0
354

देश में बढ़ते कोरोनावायरस के सं’कट को देखते हुए लॉकडाउन के चलते सभी गतिविधियों पर रोक लगा दी गई है, वहीं बिहार राज्य में कुछ क्षेत्रों में अ’पराधिक हिं’सा खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है।देर रात चमथा इलाके में भी अ’पराधियों ने भूसा खरीदने जा रहे दो युवकों पर गो’लीबारी हुई हैं, जिसमें केवल एक ही व्यक्ति का शव मिला है और अभी दूसरे युवक की तलाश जारी है।

ज्ञात हो कि, बिहार कुछ इलाकों में अपराधिक घटनाएं पिछले कुछ सालों से आम बात हो गई है। आए दिन वहाँ दिनदहाड़े गो’लीबारी शुरू हो जाती है और तमाम लोगों की जा’नें चली जाते हैं।और चमथा इलाका इसीलिए बहुत ब’दनाम है।चमथा निवासी संजीव कुमार जो बाहर रहकर मजदूरी का काम करता था कोरोना बंदी की वजह से अपने घर में ही फंस गया था और पिछले 3 महीने से अपने घर पर ही था।मंगलवार की रात वो अपने साथी रामू के साथ भूसा खरीदने के लिए जा रहा था इसी दौरान चमथा के बहियार के पास गड्ढे में छुपे अ’पराधियों ने पहले उसे रोक लिया फिर गो’लीबारी शुरू कर दी।गो’लीबारी की इस घटना में एक गोली संजीव कुमार को लगी, लेकिन वह भागने का प्रयास करने लगा परंतु अपराधियों ने खदेड़कर उसे पकड़ लिया और उसके सिर में भी गो’ली मा’र दी जिससे संजीव कुमार की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। वही उसका साथी मौके पर भागने में कामयाब रहा,परिजनों के अनुसार रामू बाइक चला रहा था और पहले रामू को ही गोली लगी थी ।गोली लगने के बादरामू गि’र गया था,लगातार पुलिस उसकी खोजबीन कर रही है।

जा’नकारी के लिए आपकों बता दें कि,जिले में अपराधियों ने दो अलग-अलग जगहों पर चार लोगों को गोली मारी जिसमें एक की मौ’त हो गई जबकि तीन अभी भी ज’ख्मी हैं। मंगलवार की रात को ही ये दोनों घटनाएं हुई।पहली घटना शहर के दीपशिखा चौक पर हुई जहां दो युवकों को गोली मा’री गई।वहीं देर रात चमथा इलाके में भी अ’पराधियों ने भूसा खरीदने जा रहे एक युवक की ह’त्या कर दी वहीं दूसरा युवक अभी तक गा’यब है।घटना बछवाड़ा थाना क्षेत्र के चमथा नंबर की है।