हथिनी की ह’त्या के मामले में तीन सं’दिग्धों से पूछताछ जारी नहीं बरती जाएगी कोई रियायत

0
453

जैसा कि सबको इस बात का इल्म है कि केरल में हुई हथिनी ह’त्या के बाद पूरे देश मे आ’क्रोश का माहौल बन गया है सभी लोग सरकार से दो’षियों की सज़ा की मांग कर रहे हैं। इसी को लेकर केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा है कि इस मामले की जां’च चल रही है वही तीन संदिग्धों के खि’लाफ भी जां’च चल रही है।

केरल में हुए एक शर्म’नाक कां’ड की वजह से सभी के दिल अ’क्रोश से भर गए हैं गरबभती हथनि को अनन्नास में पटाखे रख कर खिलाने वालो के खिला’फ चल रही है छान बीन सूत्रों से बताया जा रहा है कि अभी तीन संदिग्धों से चल रही है पूछताछ और बताया ये भी जा रहा है कि और दो अनय लोगो की तलाश हो रही है। बताया जा रहा है कि वन विभाग के सूत्रों ने ये जानकारी गुरुवार को दी । वही केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने इस मामले में कुछ केंद्रीय मंत्री और नेताओं के ऊपर केरल की छवि को खराब करने का आ’रोप लगाया है और ये वाक्य केरल के साइलेंट वैली नेशनल पार्क का है जहाँ एक गर’बभती हथनी को पटाखों से भरा अनानास खिला कर उसकी ह’त्या कर दी गयी।

जब हथिनी ने पटाखो से भरा अनन्नास खाया तो उसे खाने के बाद हथिनी के मुँह में हुए विसपोट की वजह से उसका जबड़ा बुरी तरह से क्ष’तिग्रस्त हो गया था। बताया जा रहा है कि उसके एक हफ्ते बाद 27 मई को मलप्पुरम में वेल्लियार नदी में हथिनी ने और उसके पेट मे पल रहे बच्चे ने अपना दम तो’ड़ दिया था। हथिनी के गर’बभती होने की पुष्टि पो’स्टमा’र्टम रिपोर्ट के बाद हुए थी। जब ये मामला लोगों तक पहुंचा तो लोगो के बीच मे अ’क्रोश फेल गया। और सभी लोग बस यही कह रहे हैं कि दो’शियों को स’ख्त से स’ख्त सजा दी जाए। केरल सरकार भी इस मामले को लेकर अफ’सोस जनक है और केरल सरकार ने इस मामले की जां’च के लिए वन विभाग की विशेष जां’च टीम चुनी है और इस मामले में जां’च करने का आदेश जारी किया है। इसी के चलते वन विभाग ने भी ट्वीट कर जानकारी दी और कहा है कि “हथिनी की मौत के मामले में वन्यजीव संरक्षण कानून की धा’राओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। कई संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है।”

केरल सरकार ने इस मामले की जां’च के लिए वि’शेष जां’च दल का गठन किया है। वन विभाग का कहना है कि वन विभाग दो’षियों को सज़ा दिलाने में कोई कसर नही छोड़ेगा। जब इस घटना की निं’दा पूरा देश कर रहा है तो केरल के मुख्यमंत्री विजयन ने बुधवार को कहा था कि कोझिकोड से वन्यजीव अप’राध जां’च दल को मामले की पड़ता’ल की जिम्मेदारी दी गई है।और केरल के मुख्यमंत्री ने इस बात का भरोसा दिलाया है कि दो’षियों को हर हाल में स’ज़ा होकर रहेगी। केरल के राज्यपाल आरिफ मुहम्मद खान ने भी इस मामले पर दु’ख जताया है। इस घटना पर दुनिया भर के लोग इस मामले पर न्या’य की मांग कर रहे है और दो’षियों को स’ज़ा दिलाने की मांग कर रहे है। वेबसाइट चेंज डॉट ओआरजी पर 24 घंटे में 927 लोगों ने पिटीशन डाली है। हथिनी ह’त्या के बाद पूरी दुनिया से दो’षियों को सज़ा दिलाने के लिए 13 लाख लोगों ने इस पिटीशन का सम’र्थन देते हुए दो’षियों को स’ज़ा दिलाने की मांग की है।

जब हथनि की पोस्ट’मा’र्टम रिपोर्टर आयी तो पता चला कि हथिनी के मुँह में विस’पोट होने की वजह से जब वो बहुत टाइम तक नदी में पड़ी रहीं जिसकी वजह से उसके पेट मे पानी भर गया और इसके फेफड़ों में पानी भरने से हथिनी के फेफड़ों ने काम करना बन्द कर दिया था। रिपोर्ट में इस बात की भी पुष्टि भी की गई है कि मुँह में विसपोट होने की वजह से उसका जबड़ा क्षति’ग्रस्त हो गया था। उसको जबड़े में स’हन न होने वाले द’र्द की वजह से वो कुछ भी खाने पीने में अस’मर्थ थी और कुछ न खाने पीने से कमज़ो’री की वजह से वह जब नदी में गयी तो उसकी वहां डू’बने से मृ’त्यु हो गयी। इसी के चलते कांग्रेस के नेता अहमद पटेल ने कुछ लोगों पर इस घटना के चलते नफर’त फैलाने का आरो’प लगाया है। उनका  कहना ये है कि जब देश मे इतना माहौल खरा’ब है उस हालात में भी कुछ लोग मौके का फायदा उठा कर नफरत फैलाने का काम कर रहें हैं और घटना को गल’त तरीके से पेश कर समुदायो के बीच नफरत फैलाने का काम कर रहे हैं।