डाकघर के सामने लगी लम्बी क़तार, कहा “ मोदी भेज रहे हैं..”

0
392

देश में जहां एक तरफ कोरोना वायरस के बढ़ते प्र’कोप से केंद्र में मोदी सरकार निरंतर चु’नौतियों का सामना कर रही है, और लोगों से बे’वजह घर से बाहर निकलने और सोशल डिस्’टेंसिंग का पालन करने की अपील कर रही है।वहीं दूसरी इटारसी शहर में भा’री संख्या में गरीब महिलाएं बिना किसी सोशल डि’स्टेंसिंग की परवाह किये भारी संख्या में डाक घर के सामने महज़ के अ’फवाह के कारण इकठ्ठा हो गयीं औऱ डाक कर्मचारियों को इससे काफी स’मस्याओं का सामना करना पड़ा।

दरअसल इटारसी शहर की गरीब बस्तियों की महिलाओं में यह अ’फवाह उड़ी कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सभी महिलाओं के खातों में 500-1000 रुपये की सहायता राशि भेज रहे हैं।इसी अफवाह के कारण बीते चार दिनों से शहर के मुख्य डाकघर में गरीबी लाइन, पीपल मोहल्ला, नाला मोहल्ला, अवाम नगर समेत कई इलाकों की सैकड़ों महिलाएं और पुरुष लाइन लगाकर नए खाते खुलवाने के लिए उमड़ पड़े।

हालांकि डाकघर कर्मचारियों ने महिलाओं को बार बार समझाने की को’शिश की कि उन्हें ऐसी किसी प्रकार की कोई जानकारी नहीं है और ऐसा कोई पैसा आने की खबर नहीं है फिर भी वह समझने को तैयार नहीं थी।इस बारे में इटारसी के डाकघर अधीक्षक एस. मिंज ने बताया कि ऐसी कोई योजना के निर्देश नहीं आए हैं। पहले महिलाओं ने जीरो बैलेंस के खाते खुलवाए, लेकिन जब भी’ड़ नि’यंत्रित नहीं हुई तो 100 रुपये जमा कराने पर खाते खोले जाने लगे।वहीं डिप्टी पोस्ट मास्टर मुख्य डाकघर इटारसी के राजेश शर्मा ने बताया कि इटारसी पोस्ट ऑफिस को लेकर कहीं से अ’फवाह उड़ाई गई है। 

आपको बता दें कि,पूछताछ करने पर यह पता चला कि उनके बीच में यह आपको आ एक दूसरे से ही बातचीत के दौरान फैल गई क्योंकि वहां किसी से भी पूछने पर सब का एक ही जवाब आता है कि उनके कहने पर वह यहां आयीं हैं और इस चक्कर में भा’री संख्या में भी’ड़ एकत्रित हो गई और चिं’तनीय बात यह है कि इन महिलाओं में उन क्षेत्रों से भी महिलाएं शामिल हैं जो सं’वेदनशील इलाके के रूप में चिन्हित किये गये हैं।