कांग्रेस नेता की मत’भेद पर बोले कांग्रेस के ही सीएम, कहा “तो उतर’कर देख लें…”

0
84

मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया गुट के बीच तक’रार तेज हो गई है। सिंधिया ने शिक्षकों के सम’र्थन में अपनी सरकार के खि’लाफ सड़क पर उतरने का एलान किया था जिसके बाद मुख्यमंत्री ने भी सिंधिया पर निशा’ना साधा। और इसी को लेकर जब मुख्यमंत्री कमलनाथ से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, “तो उतर जाएं।”

इसी बात पर शनिवार को मध्य प्रदेश कांग्रेस सम’न्वय समिति की बैठ’क बुलाई। इसमें मुख्यमंत्री कमलनाथ और पार्टी नेताओं ज्योतिरादित्य सिंधिया, दिग्विजय सिंह, दीपक बाबरिया, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी प्रभारी, मीनाक्षी नटराजन और जीतू पटवारी ने हिस्सा लिया। बैठक के बाद सिंधिया ने कहा कि यह एक कार’गर बैठक थी और हम भविष्य में सकारा’त्मक तौर पर कार्य करते रहेंगे।

दरअसल, मध्‍य प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान किसानों की कर्जमा’फी को मु’द्दा बनाया गया था। कांग्रेस ने किसानों का कर्जा मा’फ करने का वादा किया था, लेकिन अभी तक इस पर अमल नहीं हो सका है। ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने इसी को लेकर बयान देते हुए सड़क पर उतरने की बात कही थी। सीएम कमलनाथ ने सिंधिया के बयान पर दो टू’क जवाब देते हुए कहा कि तो वह उतर जाएंं।

वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह तक जब इस तक’रार की खब’र पहुंची तो उन्होंने कहा कि वादे पांच साल में पूरे किए जाने हैं। हमने कई वादे पूरे भी किए हैं। बाकियों पर काम चल रहा है। सिंधिया जी किसी के खि’लाफ नहीं हैं। कमलनाथ जी की अगुवाई में कांग्रेस पार्टी एक’जुट है।

सिंधिया के इस बयान के बाद प्रदेश का सि’यासी पारा बढ़ने लगा था। अब सीएम कमलनाथ के बयान के बाद लगता नहीं कि ये माम’ला इतनी जल्दी ख’त्म होगा।