भाजपा ने लोजपा को फटकारा, चिराग पासवान को दिया साफ़ संदेश..

0
292

बिहार में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर सभी पार्टियों की तैयारियां ज़ोर शोर से शुरू हो गई हैं। ऐसे में सभी पार्टी जनता का दिल जीतने में लगी हुईं हैं। जिससे उनको चुनाव में जीत हासिल हो सके। ऐसे में बीजेपी भी अपनी तैयारियों में जुटी हुई हैं। खबर मिली है कि पार्टी से अलग हुई लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के साथ बीजेपी को दोस्ताना संघर्ष मंजूर नहीं है। खबर के मुताबिक रविवार के दिन इस बात को साबित करने के लिए 2 संकेत मिले।

इस बात को साबित करने का पहला संकेत तब मिला जब गया (Gaya) की सभा में जब भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि “चुनाव दोस्ती यारी का नहीं होता।” वहीं दूसरी ओर पार्टी ने जब दो विधानसभा सीटों लालगंज और गोविंदगंज के लिए अपने प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की। बता दें कि बीजेपी ने लालगंज सीट पर संजय कुमार सिंह उम्मीदवार रखा तो वहीं दूसरी ओर गोविंदगंज में सुनील मणि त्रिपाठी को मैदान में उतारा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पिछली बार इन दोनों सीटों से LJP के राजू तिवारी और राज कुमार शाह ने जीत हासिल की थी। बीजेपी के उम्मदवारों की दूसरी लिस्ट के बारे में बता दें कि इस बार भागलपुर सीट से रोहित पांडेय को टिकट दिया गया है। हालाकि पहले इस सीट पर केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अरिजित सास्वत लड़े थे। बताया जा रहा है कि रोहित पांडेय भागलपुर में बीजेपी के अध्यक्ष भी हैं। इसके अलावा पटना में बीजेपी ने अपने सभी विधायकों को फिर से टिकट दे दिया है।