इस ब्रिटिश महिला पर लगा मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप, पैसों से भरे 5 सूटकेस के साथ…

0
188

कोरोनावायरस के इस ख़तरनाक दौर में दुनिया भर के सभी लोग परेशान हैं। बहुत से लोगों को तो काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में बहुत से लोगों ने इस महामारी का काफी फायदा भी उठाया है। इस दौरान काफी तरह के मामले भी देखने को मिले। बता दें कि ऐसे में एक और मामला सामने आया है। जिसमें एक ब्रिटिश महिला को 5 सूटकेस भर कर पैसे ले जाते हुए पकड़ा गया है। खबर के मुताबिक ये महिला इन पैसों को लेकर दुबई भागने की कोशिश में थी लेकिन एयरपोर्ट पर इसको पकड़ लिया गया।

लगभग 2 मिलियन डॉलर (14.50 करोड़ रुपये) के साथ दुबई भागने की कोशिश करने वाली इस महिला का नाम तारा हैनलॉन है और इसकी उम्र 30 साल है। इतनी भारी रकम को ले जाने के चलते इस महिला के ऊपर मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप लगाया गया है। बता दें कि इस मामले को साल 2020 में जब्त की गई राशि का अभी तक का सबसे बड़ा मामला माना जा रहा है। पैसों को लेकर भाग जाने की कोशिश में हैनलॉन को 3 अक्टूबर को हीथ्रो एयपोर्ट के टर्मिनल 2 पर रोका गया, जहां वह दुबई जाने वाली फ्लाइट में चढ़ने का प्रयास कर रही थी। एयरपोर्ट पर मौजूद अधिकारियों द्वारा सामान की जांच करते वक़्त 5 सूटकेस के सिर्फ पैसे ही निकले।

बताया जा रहा है कि हैनलॉन को डॉनकास्टर क्षेत्र की 28 साल की एक अन्य महिला के साथ गिरफ्तार किया गया और इसके बाद इस मामले की जांच को राष्ट्रीय अपराध एजेंसी (एनसीए) में भेजा गया है। इस मामले को लेकर उन्हें अक्सब्रिज (Uxbridge) मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। जहां उन्हें 5 नवंबर तक हिरासत में रखने का फैसला सुनाया गया। अगर उनके ऊपर लगा मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप साबित हुआ तो उन्होंने 14 साल तक जेल में रहने की सजा सुनाई जाएगी। इमीग्रेशन के अनुपानल विभाग से जुड़े मंत्री क्रिस फिलिप ने कहा कि “यह 2020 में सीमा पर की गई सबसे बड़ी व्यक्तिगत नकद जब्ती है और मैं सीमा बल के अधिकारियों के प्रयासों से खुश हूँ।”