उत्तराखंड: दिल्ली में पकड़ा गया गन हाउस का मालिक, बदमाशों को सप्लाई कर रहा था कारतूस

0
79

देहरादून: राजधानी देहरादून में शान से गन हाउस चलाने वाले गन और कारतूस बेचते-बेचते खुद भी बदमाशी में उतर आया। उसे दिल्ली पुलिस ने 2000 से अधिक अलग-अलग तरह के कारतूस के साथ गिरफ्तार किया। दिल्ली में गिरफ्तारी की जानकारी लगते ही उत्तराखंड पुलिस में भी हड़कंप मच गयां

कारतूस तस्करी में दून स्थित रायल आर्म्स के संचालक के भी शामिल होने से हड़कंप मच गया है। दून पुलिस ने भी अब रायल आर्म्स के संचालक परीक्षित नेगी के ठिकानों की जांच शुरू कर दी है।

मामला शुक्रवार का है। पूर्वी दिल्ली के आनंद विहार थाना पुलिस ने कारतूसों की तस्करी के आरोप में दून के रायल आर्म्स के मालिक परीक्षित नेगी, उसके दो साथियों और जौनपुर के एक बदमाश के तीन साथियों को आनंद विहार बस अड्डे से गिरफ्तार किया। उनके पास से 2,251 कारतूस बरामद किए, जो आठ तरह के लाइसेंसी हथियारों के हैं।

यूपी के मेरठ जेल में बंद बदमाश अनिल और जौनपुर के एक गैंगस्टर के इशारे पर ये कारतूस देहरादून के रायल गन हाउस से पांच लाख रुपये में खरीदे गए थे। रायल आर्म्स के मालिक की गिरफ्तारी से दून पुलिस में भी हड़कंप मच गया। एसपी सिटी सरिता डोबाल ने बताया कि दिल्ली पुलिस ने अभी तक संपर्क नहीं किया है, लेकिन दून के शख्स की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने अपने स्तर से जांच शुरू कर दी है।

जिस दुकान की बात की जा रही, वह पटेल रोड पर स्थित है। पुलिस अपने स्तर पर गन हाउस के बारे में जानकारी जुटा रही है। संचालक के सगे-संबंधियों का पता लगाया जा रहा है। एसओजी और पुलिस, रायल आर्म्स मालिक के पकड़े गए लोगों से संबंध खंगाल रही है।