महात्मा गांधी के प्रपौ’त्र ने सीएए, एनआरसी और एनपीआर के खि’लाफ केंद्र सरकार पर बोला हम’ला

0
97

महात्मा गांधी के परपोते तुषार गांधी ने राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी), नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर के मु’द्दे पर सरकार को घे’रा। उन्होंने कहा कि तीन गो’लियों ने महात्मा गांधी को मा’रा था और अब तीन गो’लियों से ही भारत को मा’रने की धम’की दी जा रही है। वो तीन गो’लियां ” CAA, NRC और NPR हैं।”

कोलकाता में आयोजित कार्यक्रम में सीएए एनआरसी के खि’लाफ तुषार गांधी ने कहा कि ” उन्होंने बापू की छाती में तीन गो’लियां दागी। अब वही लोग इसी तरह तीन गो’लियों सीएए, एनआरसी और एनआरपी से देश को मा’र रहे हैं। याद रखें, उनका स्वभाव नहीं बदला है, लेकिन हमें उन्हें बताना होगा कि हमारी छाती बहुत मजबूत है और हम उनकी गो’लियों के आगे नहीं झुकेंगे।”

तुषार गांधी ने बिना हिं’सा के प्रदर्शन करने पर जोर दिया और कहा कि यदि हम इस देश के लिए खू’न बहाते है तो हम इसके लिए तैयार हैं, लेकिन जो लोग हमारा विरो’ध कर रहे हैं, हम उनका खून नहीं बहाएंगे। हमारी ताकत ही हमारा आहिं’सक मूवमेंट है।

साथ ही साथ 82 वर्षीय बिल्किस बानो भी शाहीन बाग के इस विरो’ध प्रदर्शन में शामिल हुईं । उन्होंने सरकार पर नि’शाना साधते हुए कहा कि ” हम शाहीन बाग में इसलिए है क्योंकि यहां मुफ़्त में बिरयानी मिल रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मैं कहना चाहती हूं कि क्या आप भी पाकि’स्तान बिरयानी खाने गए थे।”

भीमराव अम्बेडकर के परपोते राज रत्न अम्बेडकर भी इस विरो’ध प्रदर्शन में शाहीन बाग पहुंचे और कहा कि ” यह लोग संविधान से ड’रे हुए हैं। भाजपा मनुस्मृति को लागू करना चाहती है। नया सीएए कानून ना सिर्फ मुसलमानों से भेदभाव करता है बल्कि आदिवासी एससी, एसटी और अन्य पिछड़ा वर्ग के साथ भी भेदभाव करता है।”