मिरा-भाईंदर में बम ब्लास्ट होने वाला है, जल्दी से पुलिस भेजिए…

0
115

मुंबई : पुलिस के एक जॉइंट कमिश्नर के पास देर रात करीब 2 बजे एक अज्ञात शख्स की कॉल आई. कॉल करने वाले शख्स ने खुद का नाम यशवंत माने बताया. उसने जॉइंट कमिश्नर से कहा कि मिरा-भाईंदर में बम ब्लास्ट होने वाला है. वहां तुरंत पुलिस भेज दीजिए. जॉइंट कमिश्नर ने जब उससे और पूछताछ की तो उसने अपशब्दों का इस्तेमाल करते हुए फोन कट कर दिया. इस बात की जानकारी जॉइंट कमिश्नर ने मुंबई पुलिस कंट्रोल रूम को दी, जिसके बाद मुंबई पुलिस ने इसकी जानकारी तुरंत ही मीरा-भाईंदर पुलिस थाने पर दी.

जॉइंट कमिश्नर के पास आई धमकी भरी कॉल की जांच-पड़ताल में जुटी है. बता दें कि ये धमकी की कोई पहली कॉल नहीं थी. इससे पहले पुणे गूगल ऑफिस में बीते रविवार को धमकी भरी कॉल आई थी. कॉल करने वाले शख्स ने बताया कि पुणे के गूगल ऑफिस में बम रखा है. धमकी भरा कॉल आने के बाद गूगल की तरफ से मुंबई के बीकेसी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई गई. बीकेसी पुलिस स्टेशन ने अज्ञात शख्स के खिलाफ मामला दर्ज किया था.

पुलिस ने कॉल करने वाले का लोकेशन ट्रेस कर लिया. आरोपी हैदराबाद का रहने वाला था. तेलंगाना की साईबराबाद पुलिस कमिश्नरेट ने आरोपी शख्स को हिरासत में लिया है. दरअसल, आरोपी का एक भाई गूगल में कार्यरत है और दूसरे भाई का उससे झगड़ा हुआ था. इसीलिए आरोपी ने अपने भाई के गूगल दफ्तर में कॉल कर बम रखे होने की फर्जी सूचना दी थी.

मुंबई पुलिस के पास अक्सर बम ब्लास्ट की धमकी भरी कॉल आती रहती है. अभी पिछले साल दिसंबर महीने में नागपुर में स्थित आरएसएस मुख्यालय को बम से उड़ाने की धमकी दी गई थी. पुलिस कंट्रोल रूम में एक अज्ञात व्यक्ति ने फोन कर आरएसएस मुख्यालय को बम से उड़ाने की धमकी दी थी, जिसके बाद आरएसएस मुख्यालय की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी.

RSS मुख्यालय को बम से उड़ाने की धमकी के बारे में पुलिस ने बताया था कि फोन करने वाले ने कहा था कि उसके पास हथियार और आरडीएक्स हैं. वह उत्तर प्रदेश का रहने वाला है और उसका नाम अजहर है. पुलिस की जांच में पता चला कि नरेंद्र कावले नाम के व्यक्ति ने नशे की हालत में फोन किया था. पुलिस ने बताया था कि फोन करने वाले को गिरफ्तार करने साथ उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया.