अब प्राइवेट लैब्स में भी होंगी कोरोना वाय’रस की जां’च, जानिए जां’च से जुड़ी पूरी जानकारी..

0
489

देशभर में कोरोना वाय’रस के बढ़ते मामलों को देख आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) ने प्राइवेट लैब को भी वाय’रस की जांच करने की अनुमति दे दी है। आईसीएमआर ने सिर्फ मान्यता प्राप्त निजी लैब को ही जांच करने की मंजूरी दी है। हर कोरोना वाय’रस की जांच की कीमत 4,500 रुपये तय की गई है। अब 4500 रुपए देकर लोग वाय’रस की जांच करवा सकते हैं। इन 4500 रुपए में से 3000 रुपये जांच और 1500 रुपये स्‍क्रीनिंग के शामिल हैं। साथ ही सरकार ने बिना किसी वजह के जांच ना करने का भी अनुरो’ध किया है। सिर्फ उन्हीं लोगों की जांच की जाएगी जिन्हें कोई क्वालिफाइड फिजिशियन करवाने के लिए कहेगा।

इस पर स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा है कि “यह जांच हर किसी को कराने की जरूरत नहीं है। जो लोग विदेश से यात्रा करके लौटे हैं या फिर जो लोग किसी विदेश से लौटने वाले नागरिक के संपर्क में आए हैं, उन्‍हीं लोगों को यह जांच करानी चाहिए।” इससे पहले आईसीएमआर के एक अधिकारी ने कहा था कि “ऐसा लगता है कि कोई भी इसे मुफ्त में नहीं करना चाहता और यही कार’ण है कि निजी लैब को कोविड-19 के लिये हर जांच की कीमत 4,500 से 5,000 रुपये के बीच रखने को कहा जाएगा।” सूत्रों के अनुसार तकरीबन 51 लैब्स ने सरकार से जांच करने की इजाजत देने की अपील की है।

बता दें कि भारत में कोरोना वाय’रस के मरीजों में इज़ाफ़ा होता जा रहा है। संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 315 हो गई है। वहीं शुक्रवा’र को ही कोरोना वाय’रस के 50 नए मामले सामने आए हैं, जो अभी तक की दिन की सबसे अधिक संख्‍या थी। इसके बाद शनिवा’र को भी 100 से ज़्यादा मामले निकले हैं। वहीं दुनियाभर ने इस महामा’री से दस हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। भारत की राजधानी की बात करें तो दिल्ली में शनिवा’र को वाय’रस से संक्रमित लोगों की संख्या 27 तक पहुंच गई है। इनमे से छह मामले दिल्ली से बाहर के हैं, दो मामले कोलकाता, तो वहीं एक-एक मामला जम्मू, पंजाब, राजस्थान और आंध्र प्रदेश का है। शुक्रवा’र तक दिल्ली में वाय’रस से संक्रमित 20 लोग थे, जिनमें से एक की मौत हो गई थी और पांच लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी।