क्या कानून से ऊपर है ‘शिफ़ाख़ाना इ सैफिया ट्रस्ट’ ?

0
837

मामला है ‘सैफी पॉलीक्लिनिक एंड नर्सिंग होम’, घीया कम्पाउंड, दूसरी हसनाबाद रोड, सांताक्रूज़ पश्चिम, मुंबई का जहाँ ‘शिफ़ाख़ाना इ सैफिया ट्रस्ट’ अपनी मनमर्ज़ी चला रहा है। ट्रस्ट एक गैर कानूनी पॉलीक्लिनिक एंड नर्सिंग होम चला रहा है, जिस घीया कम्पाउंड में यह पॉलीक्लिनिक बनाया गया है वह स्थान घीया कम्पाउंड स्थित ‘कंपल्सरी ओपन स्पेस’ में आता है, यानि उस खाली स्थान पर कोई निर्माण कार्य या ईमारत नहीं बनायी जा सकती है। परंतु ट्रस्ट के ट्रस्टीज़ ने नियम कानून की धज्जिया उड़ाते हुए घीया कम्पाउंड में अपनी मनमर्ज़ी चला राखी है।

शिफ़ाख़ाना इ सैफिया ट्रस्ट को किसकी शय है ?

बीएमसी के स्वास्थ्य अधिकारी ने दिनांक १२/०२/२०२० को एक लिखित पत्र द्वारा ‘शिफ़ाख़ाना सैफिया ट्रस्ट’ के ‘सैफी पॉलीक्लिनिक एंड नर्सिंग होम’ को तुरंत अपनी गतिविधियां बंद करने को कहा था। परन्तु, नर्सिंग होम चल रहा है

मुंबई फायर ब्रिगेड विभाग ने अपने इंस्पेक्शन में नर्सिंग होम को नियम कानून और पब्लिक सेफ्टी के विरुद्ध पाया, किसी अनहोनी जैसे आग लगने की स्थिति में यहाँ लोगों की जान को खतरा है। ११/०३/२१ को मुंबई फायर ब्रिगेड विभाग ने ट्रस्ट के ट्रस्टीज को तुरंत नर्सिंग होम बंद करने को कहा था।
परन्तु, नर्सिंग होम चल रहा है

मुंबई फायर ब्रिगेड के ऑफिसर सचिन तलेकर ने बताया कि विभाग ने अपना कार्य किया है सैफी नर्सिंग होम एंड पॉलीक्लिनिक फायर और पब्लिक सेफ्टी नियमों के विरुद्ध चलाया जा रहा है। विभाग ने सांता क्रूज़ पुलिस स्टेशन को यह सुनिश्चित करने को कहा है कि सैफी नर्सिंग होम एंड पॉलीक्लिनिक बंद किया जाये।

बीएमसी (H/W वार्ड) ने दिनांक ०८/०७/२१ को ‘सैफी पॉलीक्लिनिक एंड नर्सिंग होम’ को तोड़ने का ऑर्डर दिया है
Speaking Order from Building and Factory
सांताक्रूज़ पुलिस स्टेशन इंचार्ज न्यानेश्वर गानोर ने बताया कि “पुलिस अपनी करवाई करेगी, हमने सैफी नर्सिंग होम एंड पॉलीक्लिनिक को नोटिस जारी कर दिया है।”

जब हमने नर्सिंग होम को संचालित करने वाली ट्रस्ट के ट्रस्टी जनाब फकरुद्दीन भानपुरवाला से बात करी तो उन्होंने कहा कि वे इसके बारे में कुछ नहीं जानते। खबर के लिखे जाने तक आज भी नर्सिंग होम धड़ल्ले से चल रहा है.