कोरोना वाय’रस के चलते युवकों ने लगाई लाखों की चप’त..

0
626

कोरोना वाय’रस से निपटने के लिए सरकार सभी तरह की कोशिशें कर रही है। इसी कार’ण महामा’री कोरोना वाय’रस से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री केयर फंड बनाया गया था, जिसमें लोगों से मदद करने का अनुरो’ध किया गया है। आम जनता के साथ साथ बड़े बड़े उद्योगपति से लेकर बॉलीवुड के सितारे और क्रिकेट की दुनिया के महान खिलाड़ी भी इसमें शामिल हैं। जिसका फायदा उठा कर झारखंड के हजारीबाग में शातिर युवकों ने प्रधानमंत्री केयर फंड के नाम से फ’र्जी वेबसाइट बनाकर 51 लाख का चूना लगाया है। दरअसल इन शातिर युवकों ने प्रधानमंत्री केयर फंड के नाम से फर्जी वेबसाइट बनाई जिसमें दो बैंकों के अकाउंट नंबर भी डाले गए। कोरोना वाय’रस से निपटने के लिए लोगों ने इन बैंक अकाउंट में लाखों की संख्या में धनराशि भी डाली जिसे निकाल लिए गए।

मामले की जांच के बाद पुलिस ने दो युवकों को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही उनसे मिली जानकारी की मदद से तीसरे व्यक्ति जिसे मास्टरमाइंड समझा जा रहा है इसकी तलाश अभी भी जारी है। पुलिस ने बताया कि इन दो व्यक्तियों ने पीएम केयर फंड के नाम से एक फ’र्जी वेबसाइट बनाई थी, जिसमें दो बैंक अकाउंट नंबर भी डाले गए थे। साथ ही लोगों से मदद की अपील भी की थी। काफी लोगों ने पीएम केयर फंड के नाम पर लाखों रुपए की धनराशि इन अकाउंट में डाली। जिसके बाद यह शातिर लोग 51 लाख की धनराशि निकाल ली।

बता दें कि यह मामला पंजाब नेशनल बैंक और यूनियन बैंक से जुड़ा हुआ है। दोनों बैंकों के मैनेजर की शिकायत के बाद पुलिस को इस बात की जानकारी मिली। पुलिस ने मामले की जांच शुरू की। जिसमें पाया गया कि वह दो अकाउंट नंबर सगे भाइयों के थे। पुलिस ने जानकारी दी कि यह दोनों व्यक्ति हजारीबाग से ताल्लुक रखते हैं। मैनेजर की शिकायत पर पुलिस ने इन लोगों को गिरफ’तार किया, साथ ही बताया कि इसमें एक और व्यक्ति शामिल था जिसकी तलाश अभी भी जारी है।

मामले को लेकर जिले के सदर डीएसपी कमल किशोर ने बताया कि “फर्जी वेबसाइट बनाकर पैसे हड़पने वाले केस में मुख्य सरगना ओरिया निवासी परमेश्वर साव है। परमेश्वर ने पकड़े गए दोनों आरोपियों के दो अलग-अलग बैंकों में अकाउंट खुलवाए थे। इन बैंक खातों में पैसे आने के बाद हर ट्रांजेक्शन पर कुछ राशि देने का वादा किया था।” उन्होंने आगे बताया कि “डीएसपी ने बताया कि दोनों आरो’पियों के पास से कई चेकबुक, पासबुक और एटीएम बरामद किए गए हैं। ओरिया निवासी परमेश्वर साव की गाड़ी पुलिस ने जब्त कर ली है, उसमें से भी कई बैंकों के पासबुक और एटीएम बरामद किए गए हैं।” बता दें कि पुलिस ने दोनों अकाउंट्स को बन्द कर दिया है साथ है जांच अभी भी जारी है।