कोरोना वाय’रस को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की सऊदी के प्रिंस से बात..

0
260

मंगलवा’र को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सऊदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान से कोरोना वाय’रस को लेकर टेलीफोन पर बातचीत की। इन दोनों ने वैश्विक महामा’री कोविड-19 यानी के कोरोना वाय’रस के कार’ण दुनिया में पड़ रहे प्रभावों को लेकर बात की। प्रधानमंत्री मोदी ने इस बातचीत में हजारों लोगों को प्रभावित करने वाली और दुनिया के कई हिस्सों की अर्थ’व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव डाल रहे वाय’रस के समाधान पर ज़ोर दिया। साथ ही पीएम मोदी ने सार्क देशों के प्रमुखों से की गई वीडियो कॉन्फ्रेंस का भी जिक्र किया।

दोनों ने बातचीत के दौरान इसके लिए जी 20 नेताओं के स्तर पर समान अभ्यास करने पर सहमति जताई। आगे दोनों नेताओं ने दुनियाभर में फैले कोरोना वाय’रस द्वारा पैदा हुई चुनौतियों का समाधान निकालने और जनता के मन में यकीन पैदा करते पर चर्चा की। साथ ही पीएम मोदी और सऊदी के प्रिंस ने फोन कॉल के दौरान आपसी सहयोग करने का फैस’ला किया। दोनों ने तय किया कि दोनों देश के अधिकारी आपसी सहयोग के लिए एक दूसरे के संप’र्क में रहेंगे। सूत्रों के अनुसार माना जा रहा है कि क्राउन प्रिंस सलमान भी जी 20 नेताओं के साथ भारत के सार्क देश के नेताओं संग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर सकते हैं।

बता दें कि रविवा’र को दक्षेस देशों ने कोरोना वाय’रस से मिलकर लड़ने का फैस’ला किया। साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1 करोड़ डॉलर की प्रारंभिक पेशकश करते हुए वाय’रस से बचाव करने का प्रस्ताव किया और कहा कि हम साथ मिलकर इससे बेहतर ढंग से निपट सकते हैं, दूर जाकर नहीं। वहीं वीडियो कांफ्रेंस में पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दा उठाया और कोरोना वाय’रस के खत’रे से लड़ने के लिये जम्मू कश्मीर में सभी तरह की पाबंदी हटाने की मांग की।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा श्रीलंका के रा’ष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे, मालदीव के रा’ष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह, नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली, भूटान के प्रधानमंत्री लोटे शेरिंग, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, अफगा’निस्तान के रा’ष्ट्रपति अशरफ गनी और पाकि’स्तान के प्रधानमंत्री के स्वास्थ्य मामलों पर विशेष सहायक जफर मिर्जा इस वीडियो कांफ्रेंस में शामिल हुए।