जोशीमठ में होटल-माकन ढहाने पहुंचा बुल्डोजर, लोगों ने दी आत्मदाह की धमकी

0
25

जोशीमठ :भू-धंसाव मामले पर पीड़ित महिला बिंदू ने कहा कि हमारा 60 साल का आशियाना एक पल में खत्म हो गया. हमें नहीं पता कि हम कहां जाएंगे. उन्होंने कहा कि हमें सरकार से कुछ भी मदद नहीं मिली. वह (सरकारी अधिकारी) आए और लाल निशान लगाया और (घर) खाली करने के लिए कह दिया.

जोशीमठ में प्रभावित लोगों ने अधिकारियों के सामने हंगामा किया और आत्मदाह करने की धमकी दी. अधिकारी अपील कर रहे हैं कि ये जगह धंसी हुई है, इसलिए जगह को खाली किया जाए. जोशीमठ भू-धंसाव मामले पर पीड़ित व्यक्ति मनीष ने कहा कि हमारा बचपन यहीं बीता है. हमको अचानक घर खाली करने के लिए बोल रहे हैं. शासन-प्रशासन को परवाह नहीं है, अधिकारी हमारे पास आए और घर खाली करने के लिए बोल रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमारे परिवार में 7-8 लोग हैं. हमने पहले भी कई बार इसके बारे में सरकार को बताया था.

जोशीमठ भू-धंसाव मामले पर पीड़ित व्यक्ति मनीष ने कहा कि हमारा बचपन यहीं बीता है. हमको अचानक घर खाली करने के लिए बोल रहे हैं. शासन-प्रशासन को परवाह नहीं है, अधिकारी हमारे पास आए और घर खाली करने के लिए बोल रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमारे परिवार में 7-8 लोग हैं. हमने पहले भी कई बार इसके बारे में सरकार को बताया था.

थोड़ी देर में होटलों को गिराना शुरू कर दिया जाएगा. मौके पर मौजूद एसडीआरएफ की टीम आसपास के घरों को खाली करा रही है. जोशीमठ में नौ वार्ड के 678 मकान ऐसे हैं जिनमें दरारें हैं. सुरक्षा की नजर से दो होटल को आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत बंद किए गए हैं.