भारत में कोरोना वाय’रस के मरी’जों का तेज़ी से बढ़ा आं’कड़ा, एक ही दिन में आए 194 नए मामले, जानें इससे जुड़ी यह बातें..

0
579

चीन से फैला कोरोना वाय’रस अभी तक दुनियाभर के लोगों को परेशान के रहा है। दिन पर दिन इसका प्रको’प बढ़ता ही जा रहा है। भारत में भी महामा’री कोरोना वाय’रस कई लोगों को अपनी चपेट में लेता जा रहा है। ताज़ा आंकड़ों की बात करें तो पिछले 24 घंटों में कोरोना के 194 नए मामले सामने आए हैं। जिसके बाद भारत में इस वाय’रस से पीड़ित लोगों की संख्या बढ़कर 918 तक पहुंच गई है। साथ ही 19 लोगों की मौ’त भी हो चुकी है। वहीं 79 लोग इस महामा’री से निजात भी पा चुके हैं। साथ ही भारत की सरकार इस वाय’रस से लड़ने के लिए नए नए उपाय सोच रही है। इसी कार’ण गुरुवा’र को सरकार ने 1.70 लाख करोड़ रुपये से अधिक के राहत पैकेज का ऐलान किया। इसके साथ ही रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने भी अर्थ’व्यवस्था को बचाने के लिए रेपो दर, सीआरआर में कटौती और बैंकों को कर्ज की किस्त पर वसूली से तीन महीने तक रोक की लगा दी।

यह हैं कोरोना वाय’रस से जुड़ी बातें..

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भी कोरोना वाय’रस की चपेट में आ गए हैं। वाय’रस की जांच होने के बाद वह कोरोना वाय’रस से संक्रमित पाए गए। शुक्रवा’र को प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने खुद इस बात की जानकारी दी। बोरिस जॉनसन ने कहा कि उनमें कोरोना वाय’रस के कुछ लक्षण दिखाई दिए और कोरोना वाय’रस की उनकी जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए वो सरकार से जुड़े रहेंगे। वहीं दूसरी ओर अंतररा’ष्ट्रीय मुद्रा को’ष की प्रमुख क्रिस्टलीना जॉर्जीवा ने कहा है कि “यह स्पष्ट है कि दुनिया मंदी की चपेट में है और यह 2009 की मंदी से भी बुरा है।” शुक्रवा’र को आईएमएफ की प्रमुख ने कहा कि महामा’री कोरोना वाय’रस ने वैश्व‍िक अर्थव्यवस्था का बूरा हाल किया है। जिसके सही करने में विकासशील देशों की मदद की ज़रूरत पड़ेगी।

वहीं भारत में पहली बार एक दिन में ही कोरोना वाय’रस से संक्रमित 185 नए मामले सामने आए हैं। जिसके कार’ण भारत में कोरोना वाय’रस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 909 हो गई है। साथ ही 79 लोग इस महामा’री से निजात भी पा चुके हैं। बता दें कि भारत में कोरोना वाय’रस से अबतक 19 मौ’तें हो चुकी हैं। वहीं भारत में दूसरी तरफ एक शख्स को गिर’फ्तार किया गया है। उस शख्स पर खुले स्थान पर लोगों को छींकने और कोरोना वाय’रस का फैलावे के लिए उकसाने के आरो’प में हिरा’सत में लिया है। बताया जा रहा है उस शख्स का नाम मुजीब मोहम्मद है। मुजीब में अपने फेसबुक अकाउंट पर लिखा था कि “आएं साथ आएं, बाहर निकलें और खुले में छींके और वाय’रस फैलाएं।” इसी मामले पर शुक्रवा’र को इंफोसिस ने कहा कि उसने कोरोना वाय’रस से संबंधित सोशल मीडिया पर “अनुचित पोस्ट” करने वाले कर्मचारी को नौकरी से निकाल दिया है।

देश के सभी राज्यों की सरकारें भी इस वाय’रस से लड़ने के लिए पूरी कोशिश कर रही है। वहीं देश के उप-रा’ष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने कोरोना वाय’रस के संकट से निपटने के लिए सामने आए हैं। उन्होंने अपने एक महीने के वेतन को प्रधानमंत्री रा’ष्ट्रीय राहत कोष में देने का फैसला किया है। वहीं कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने भी राज्यों के मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर विदेश से भारत आए यात्रियों की निगरानी में अंतर को लेकर चिंता जताई है। उन्होंने 18 जनवरी से 23 मार्च के बीच भारत आए 15 लाख से ज्यादा विदेशी यात्रियों की निगरानी में अंतर बताया है। और कहा है कि यह कोरोना वाय’रस से निपटने के खि’लाफ जा सकता है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने भी कोरोना वाय’रस से लड़ने के लिए बड़ा फैस’ला किया है। आरबीआई ने ब्याज दरों पर 0.75 प्रतिशत की कटौती की है। शुक्रवा’र को आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि “रेपो दर को मौजूदा समय में 5.15 प्रतिशत से घटाकर 4.4 प्रतिशत किया गया है। इससे होम लोन समेत अन्य कर्जों की ईएमआई में कमी आने की उम्मीद है।” वहीं गुरुवा’र को सरकार ने 1.7 लाख करोड़ रुपये से अधिक के पीएम गरीब कल्या’ण योजना पैकेज का ऐलान किया है। जिससे गरीबों, जरूरतमंदों, महिलाओं, दिव्यां’गों समेत लगभग सभी वर्गों के लोगों की मदद की जाएगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारम’ण ने कहा कि “सरकार की कोशिश है कि कोई भी गरीब भूखा नहीं रहे।”

बता दें कि शुक्रवा’र को कर्नाटक में कोरोना वाय’रस से संक्रमित एक व्यक्ति की मौ’त हो गई। केरल में संक्रमित होने वालों की संख्या 137 हैं और इसे भारत का सबसे प्रभावित राज्य माना जाता है। केरल के बाद महारा’ष्ट्र के मामलों में भी इज़ाफ़ा हो रहा है, महारा’ष्ट्र में 130 लोग इस वाय’रस से संक्रमित है तो वहीं कर्नाटक में 55 लोगों को कोरोना वाय’रस होने की पुष्टि हुई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि इनमें 47 विदेशी नागरिक हैं। दूसरी तरफ भारत की राजधानी दिल्ली में केजरीवाल की सरकार भी इस वाय’रस से निपटने के लिए अपना योगदान दे रही है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में रह रहे दूसरे राज्यों के लोगों से दिल्ली में ही रहने का अनुरो’ध किया। वहीं बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर दिल्ली में फंसे बिहार के लोगों की मदद करने के लिए केजरीवाल से अपील की।