12 घंटे तक रोकनी पड़ी गुजरात जाने वाली सभी ट्रेनें, ये रही वजह

0
74

महाराष्ट्र: पश्चिम रेलवे के रूट पर ट्रेनों का परिचालन बुरी तरह प्रभावित रहा। मुंबई के पास ओएचई टूटने के कारण गुजरात जाने वाली ट्रेनें 12 घंटे तक रुकी रहीं। मामला पालघर जिले में दहानू स्टेशन के पास ओवरहेड उपकरण खराबी का है। अधिकारियों ने बताया कि गंभीर तकनीकी खराबी के कारण पश्चिम रेलवे मार्ग पर गुजरात जाने वाली सभी ट्रेनें लगभग 12 घंटे तक रुकी रहीं।

बता दें कि दहानू मुंबई से लगभग 125 किमी दूर स्थित है। मुंबई और अहमदाबाद के बीच ट्रेन यात्रा में आम तौर पर लगभग आठ घंटे लगते हैं, लेकिन ओएचई ब्रेकडाउन के कारण ट्रेनें 12 घंटे से अधिक समय तक फंसी रहीं। पश्चिम रेलवे के PRO सुमित ठाकुर ने बताया कि बुधवार रात 11 बजे दहानू रोड स्टेशन पर ओएचई ब्रेकडाउन हो गया था। PRO सुमित ठाकुर ने बताया कि घंटों तक परिचालन बाधित रहने के बाद अप लाइन (मुंबई जाने वाली) पर आधी रात के बाद लगभग 12.15 बजे परिचालन दोबारा शुरू हुआ। डाउन लाइन (गुजरात जाने वाली) बुधवार सुबह 10.25 बजे बहाल हुई।

रेलवे अधिकारी ने बताया कि ट्रेन की आवाजाही बहाल होने के बाद, प्रभावित खंड पर ट्रेनों की गति कम करने का निर्देश दिया गया है। पश्चिम रेलवे के मुताबिक दहानू के पास जहां ओएचई ब्रेकडाउन हुआ था, 60 किमी प्रति घंटे का गति प्रतिबंध लगाया गया है। उन्होंने कहा, ट्रेनों को विरार-सूरत खंड के सभी स्टेशनों पर ठहराव दिया गया है। जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर ने बताया कि, “चर्चगेट (दक्षिण मुंबई में) और विरार (पालघर) के बीच उपनगरीय ट्रेनों पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

पश्चिम रेलवे के एक अन्य अधिकारी ने कहा कि वानगांव और दहानू स्टेशनों के बीच हुई इस घटना के कारण मंगलवार देर रात मुंबई से रवाना होने वाली सभी ट्रेनें फंस गईं। पालघर ओएचई ब्रेकडाउन मामले में घटना के करीब तीन घंटे बाद पश्चिम रेलवे के मंडल रेलवे प्रबंधक (DRM) ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म- एक्स पर बयान दिया।

उन्होंने कहा कि दहानू रोड और वानगांव स्टेशनों के बीच OHE टूटने के कारण डाउन दिशा की कई ट्रेनें अपने नियत समय से देरी से संचालित की जा रही हैं। उन्होंने बताया कि यात्रियों की सहायता के लिए अलग-अलग स्टेशनों पर हेल्प डेस्क का बंदोबस्त भी किया गया है। रेलवे को असुविधा के लिए गहरा खेद है।