अनिल अंबानी जेल जाने से बचने के लिए कंपनी बेचकर जुटा रहे पैसा

0
181

नई दिल्ली – आरकॉम समूह के मालिक अनिल अंबानी ने एरिक्सन के साथ बकाया विवाद में 550 करोड़ रुपये चुकाने के लिए कोशिशें शुरू कर दी हैं। बैंकों में जमा आयकर रिफंड औररिलायंस म्यूचुअल फंड में हिस्सेदारी बेचकर उन्होंने यह रकम जुटाने की योजना बनाई है। सुप्रीम कोर्ट ने इस संबंध में पिछले दिनों कड़ा फैसला दिया है और एक माह के अंदर एरिक्सन को पैसों का भुगतान करने को कहा गया है। ऐसा न होने पर सुप्रीम कोर्ट ने अनिल अंबानी और कंपनी के दो निदेशकों को जेल भेजने की बात कही है।

रिलायंस म्यूचुअल फंड के प्रवक्ता के अनुसार एरिक्सन को बैंकों को पत्र लिखकर आयकर रिफंड के रूप में जमा 260 करोड़ रुपये सीधे भुगतान करने को कहा है। समूह की ओर से 118 करोड़ रुपये पहले ही सुप्रीम कोर्ट में जमा करा दिए गए थे। बाकी बचे 172 करोड़ रुपये जुटाने के लिए अनिल अंबानी रिलायंस म्यूचुअल फंड में अपनी हिस्सेदारी बेचने कर जुटाना चाहती है। रिलायंस म्यूचुअल फंड में अपनी पूरी हिस्सेदारी बेचने के लिए वेंचर में शामिल जापानी कंपनी को पेशकश की है। यह कवायद पैसे न चुकाने पर सुप्रीम कोर्ट की ओर से तीन महीने जेल की सजा से बचने के लिए की जा रही है।