क्या महाराष्ट्र के हो जायेंगे कर्नाटक के 865 गांव? विधानसभा में प्रस्ताव पास

0
29

कर्नाटक के साथ सीमा विवाद को लेकर सीएम एकनाथ शिंदे के प्रस्ताव को महाराष्ट्र विधानसभा ने पारित कर दिया है। इस प्रस्ताव में कर्नाटक के 865 गांवों और कुछ कस्बों को महाराष्ट्र में शामिल कराने का संकल्प लिया गया है। इस प्रस्ताव को सदन में मौजूद सभी दलों के विधायकों का समर्थन मिला।

प्रस्ताव को मंजूर किए जाने के बाद एकनाथ शिंदे ने अपने भाषण में कहा कि कांग्रेस के दौर से ही यह विवाद रहा है और वही इसके लिए जिम्मेदार है। बता दें कि बीते दिनों अमित शाह ने कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मई और महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे एवं डिप्टी सीएम की मीटिंग बुलाई थी।

इस बैठक में उन्होंने महाराष्ट्र एवं कर्नाटक से कहा था कि दोनों राज्य सुप्रीम कोर्ट की ओर से यथास्थिति बनाए रखने के फैसले पर ही रहें। हालांकि इसके बाद भी कर्नाटक विधानसभा में प्रस्ताव पारित हुआ था और उसके बाद से ही एकनाथ शिंदे सरकार पर विपक्षी दल निशाना साध रहे थे। माना जा रहा है कि विपक्ष की आलोचना से बचने के लिए ही महाराष्ट्र सरकार को प्रस्ताव लाना पड़ा, जिसमें कर्नाटक के बेलगावी जिले का हिस्सा 865 गांवों और कुछ कस्बों को महाराष्ट्र में शामिल करने की बात कही गई है।

बीते कई दिनों से महाराष्ट्र विधानसभा में सीमा विवाद को लेकर हंगामा चल रहा था। विपक्षी दलों के नेताओं ने पिछले दिनों कर्नाटक के बेलगावी जाने की कोशिश भी की थी, लेकिन उन्हें अरेस्ट कर लिया गया था। विपक्ष के हंगामे पर जवाब देते हुए डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा था, श्हम सीमांत इलाकों में अपने लोगों को अकेला नहीं छोड़ेंगे।

हम अपनी जमीन के एक-एक इंच के लिए लड़ेंगे। चाहे यह मामला सुप्रीम कोर्ट में हो या फिर केंद्र सरकार के पास।श् उन्होंने कहा था कि हम सीमांत इलाकों में रह रहे मराठी भाषी लोगों के साथ कोई अन्याय नहीं होने देंगे और उनके हकों के लिए लड़ेंगे।