उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लिया पेंशनधा’रकों के लिए ब’ड़ा फैस’ला..

0
178

शुक्रवा’र को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अलग अलग पेंशन योजनाओं के तहत पेंशन पाने वालों के लिए बड़ा क़दम उठाया है। उन्होंने 86 लाख से अधिक लाभार्थियों के अकाउंट्स में 871 करोड़ रुपए से ज़्यादा पेंशन राशि का ऑनलाइन ट्रांसफर की है। अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने कहा कि “मुख्यमंत्री ने अपने सरकारी आवास पर कोविड-19 महामा’री के दृष्टिगत वृद्धावस्था पेंशन, निराश्रित पेंशन, दिव्यांग पेंशन तथा कु’ष्ठावस्था पेंशन योजनाओं के 86 लाख 71 हजार 781 लाभार्थियों के खातों में 871.48 करोड़ रुपए की अग्रिम पेंशन राशि का ऑनलाइन ट्रांसफर किया। इसके अन्तर्गत प्रत्येक लाभार्थी के खाते में वित्तीय वर्ष के प्रथम दो माह की एकमुश्त पेंशन अन्तरित की गई है।”

सीएम योगी ने कहा कि मौजूदा दौर में पूरी दुनिया ही कोरोना वाय’रस से लड़ रही है। उन्होंने कहा कि “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कोरोना वाय’रस के विरु’द्ध लड़ाई में पूरा देश 21 दिनों के इस लॉकडाउन की कार्रवाई में सहभागी बन रहा है। गरीबों, वंचितों और निराश्रितों को प्रदेश सरकार द्वारा हरसम्भव सहायता दी जा रही है। वृद्धावस्था, निराश्रित महिला, दिव्यांगजन व कु’ष्ठावस्था पेंशन के लाभार्थियों को मदद देकर प्रदेश सरकार उन्हें सम्बल प्रदान कर रही है।” आगे सीएम योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने जनता से अनुरो’ध किया है कि पांच अप्रैल को रात नौ बजे सभी लोग अपनी अपनी लाइट्स बन्द करके 9 मिनट के लिए दीपक, टॉर्च, मोमबत्ती या मोबाइल फ्लैश लाइट को जलाएं। ऐसा करने से कोरोना वाय’रस से छाए अं’धकार को दूर किया जा सकता है।

वहीं मुख्यमंत्री ने मुरादाबाद, सहारनपुर, वाराणसी, गोरखपुर, लखनऊ, सीतापुर, चित्रकूट और प्रयागराज के अलग अलग पेंशन लाभार्थियों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग कर उनकी कुशलक्षेम भी पूछी और साथ ही इस मामले में जानकारी भी ली। बता दें कि इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में पिछड़ा वर्ग कल्या’ण एवं दिव्यांगजन सशक्तीकर’ण मंत्री अनिल राजभर, बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) सतीश द्विवेदी, मुख्य सचिव आर के तिवारी, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव कुमार मित्तल, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा रे’णुका कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एस पी गोयल एवं संजय प्रसाद, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरि’ष्ठ अधिकारी मौजूद थे।