बरसात में बचाएँ बीमारियों से, सेहत के चार यार..

0
376
rain

बरसात का मौसम जहाँ सभी को अच्छा लगता है वहीं बरसात में फैलती हैं तरह-तरह की बीमारियाँ भी। हाल ही में सर्दी, खाँसी और बुखार की जैसे भरमार हो गयी है। जिसे देखो वही बीमार। बरसात में तरह-तरह के जीवाणु सक्रिय होकर तरह-तरह की बीमारियाँ फैलाते हैं। ऐसे में सेहत की सुरक्षा करने वाले चार यारों के बारे में हम आपको बताते हैं जिनके सेवन से आपकी सेहत रहेगी चमकती- दमकती।

अदरक– जी हाँ बारिश शुरू होते ही अदरक वाली चाय का सेवन तो शुरू हो जाता है लेकिन अदरक का जास पीकर भी आप कई बीमारियों से बच सकते हैं। पेट दर्द, अपच, खाँसी- सर्दी-ज़ुकाम जैसी कई बीमारियों को दूर करने में अदरक कारगर है।

लहसुन– लहसुन की एक कली से आपको इतना फ़ायदा हो सकता है कि उसे लिखने के लिए भी ढेर सारी जगह लग जाए। जी हाँ, लहसुन शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक है। सर्दी में इसका उपयोग करना और फ़ायदेमंद है इससे आपकी इम्यूनिटी बढ़ती है और आप सेहत को बचाए रख सकते हैं

शहद– शहद बहुत लाभकारी होता है। खाँसी में अदरक के रस के साथ इसका सेवन किया ही जाता है। लेकिन अगर रोज़ गुनगुने पानी में मिलाकर ख़ाली पेट पी लिया जाए तो शरीर कुछ ही दिनों में ऐसा दुरुस्त हो जाता है कि बीमारियाँ आसपास नहीं फटकतीं। यही नहीं अगर आपका गला बैठा हो या खाँसी के कारण गले में ख़राश हो तो पीसी काली मिर्च शहद में मिलाकर चाटने से गला खुल जाता है। आवाज़ मधुर भी होती है।

हल्दी– जी हाँ, घर में रोज़ सब्ज़ी में डलने वाला मसाला हल्दी तो कमाल की औषधि है। सर्दी, खाँसी, हरारत हो या गले में ख़राश बस एक चम्मच हल्दी गुनगुने दूध में डालकर पी जाओ और ओढ़कर सो जाइए सारी बीमारी छूमंतर हो जाएगी। अगर चाहें तो रोज़ सुबह गुनगुने पानी में हल्दी पावडर मिलाकर ख़ाली पेट पी लें। धीरे-धीरे शरीर की सारी बीमारियाँ हो जाएँगी ग़ायब। हल्दी पानी के सेवन से खाँसी- सर्दी जैसी बीमारियों में भी राहत मिलती है।

तो बारिश के मौसम में कर लीजिए सेहत के इन चार यारों से दोस्ती ताकि दूर रहें खाँसी, सर्दी- ज़ुकाम और बुखार जैसे दुश्मन आपसे। साथ ही ये भी ख़याल रखें कि अगर बारिश में भीगें तो ख़ुद को पूरी तरह भीगाएँ या फिर घर आकर जल्दी से कपड़े बदल लें..आधे- अधूरे स्नान से शरीर में बीमारियों का घर बन जाता है।