सामने आया भारत का पहला मंकीपॉक्स मामला, सरकार की बढ़ी चिंता…

0
72

अफ्रीका के कई इलाकों के बाद अब भारत में भी मंकीपॉक्स के मामलों की शुरुआत ही चुकी है। हाल ही में यूएई से भारत लौटे एक शख्स में इसके लक्षण देखे गए थे। जिसके बाद इसका सैंपल जांच के लिए भेज दिया गया। रिपोर्ट आने पर पता चला की वह मंकीपॉक्स जैसे खतरनाक वायरस से संक्रमित है। बता दें कि ये शख्स केरल का रहने वाला है और फिर हाल ही में ही यूएई से अपने घर वापस आया है। मंकीपॉक्स से संक्रमित पाए जाने के बाद अस्पताल में ही उसका टेस्ट करवाया जा रहा है और साथ ही अस्पताल में ही उसका इलाज किया जा रहा है।

टेस्ट पॉजिटिव आने के बाद से उसके कॉन्टैक्ट में आए सभी लोगों का भी टेस्ट किया जा रहा है। जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार की ओर से राज्य में एक स्पेशल टीम भेजी गई है। जो लोगों में लक्षण देखेगी और उनका टेस्ट करेगी। बता दें कि इस राज्य में पहला मामला निकलने पर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री वीना जार्ज ने भी एक बयान जारी किया है। उन्होंने कहा है कि “संक्रमित व्यक्ति के नजदीकी संपर्कों की भी पहचान की गई है, जिनमें उनके पिता, मां, एक टैक्सी चालक, एक ऑटो चालक और बगल की सीटों के 11 साथी यात्री शामिल हैं।”

मंकीपॉक्स का सबसे पहले मामला अफ्रीका में दर्ज किया गया। जिसके बाद धीरे धीरे ये वायरस कई और जगहों पर भी फेल गया। यूनाइटेड किंगडम, पुर्तगाल और स्पेन में भी इसके मामले दर्ज किए गए हैं। हालांकि डब्ल्यूएचओ की ओर से मंकीपॉक्स को अंतर्राष्ट्रीय चिंता का सबब नहीं माना गया है। लेकिन डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक इस बात से सहमत नहीं हैं।