मास्टर ब्लास्टर सचिन की मानेंगे ये बात तो मैच में हो सकता है चमत्कार

0
427
Sachin

टीम इंडिया के संकटमोचन माने जाने वाले, टीम इंडिया की जीत की गारंटी माने जाने वाले, साथ ही दर्शक दीर्घा में हलचल मचाए रखने वाले, टीम इंडिया के मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने कहा है कि वनडे क्रिकेट को रोमांचक बनाए रखने के लिए इसमें लगातार बदलाव की ज़रूरत है। जिससे क्रिकेट के इस प्रारूप में लोगों की दिलचस्पी बनी रहे।

सचिन तेंदुलकर ने इसके लिए कुछ दिलचस्प सुझाव भी दिए हैं। सचिन का कहना है कि वनडे टीम को 50 ओवर की एक पारी खेलने की बजाय 25-25 ओवर की दो पारियां खेलनी चाहिए। यानी एक मैच में कुल 4 पारियाँ और हर पारी के बाद 15-15 मिनट का ब्रेक हो। सचिन ने उदाहरण देते हुए कहा कि अगर टीम A और टीम B के बीच 50 ओवर का एक मैच खेला जाना है, तो अगर टीम A पहले बल्लेबाज़ी के लिए मैदान में उतर रही है, तो वह पहले 25 ओवर तक बल्लेबाज़ी करेगी। उसके बाद टीम A 26 वें ओवर से जितने भी विकेट उसके पास बचे हैं।

पहले 25 ओवर खेलने के बाद के, उनके साथ अपनी पारी को आगे बढ़ाएगी। इसी तरह से टीम B भी चौथी पारी को अपना लक्ष्य हासिल करने के लिए खेलेगी। सचिन के अनुसार अगर टीम A अपनी पहली पारी में ही ऑल-आउट हो जाती है, तो टीम B के पास अपना लक्ष्य हासिल करने के लिए अपनी पहली पारी और एक ब्रेक और उसके बाद की दूसरी पारी होगी। सचिन ने बताया कि इस तरह के मैच में अगर देर शाम बारिश की भी संभावना होती है, तो टीम उसके अनुसार अपनी रणनीति भी बना सकती है। इससे खेल का परिणाम भी निकल सकता है।

सचिन का कहना है कि जब हम दिन-रात्रि का मैच खेलते हैं। तो उसमें ओस मुख्य समस्या बन जाती है। जिससे खेल प्रभावित होता है। और कई बार टीमों की हार-जीत का फ़ैसला इस ड्यू-फैक्टर की वजह से प्रभावित होता है। और अगर इस प्रारूप पर काम किया जाए, तो दोनों टीमों को उस में बल्लेबाज़ी करने के बराबर के अवसर मिलेंगे। टीम इंडिया के मास्टर ब्लास्टर अपने सुझावों को लेकर बहुत आश्वस्त हैं, कि यह सुझाव टी20 प्रारूप के आने के बाद से 50-50 ओवर की वनडे मैचों की बोझिलता को दूर करके इन्हें रोचक और एक नया रूप दे सकते हैं।