प्रदूषण बना बड़ा संकट, दिल्ली के बाद अब हरियाणा के इन शहरों में भी रहेंगे स्कूल बंद…

0
81

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए गुरुवार को दिल्ली सरकार ने राज्य के सभी स्कूलों को अगले आदेश तक बंद रखने का फैसला किया था। बता दें कि दिल्ली सरकार का ये फैसला सुप्रीम कोर्ट की नाराजगी के बाद जारी किया गया था। इस फैसले से पहले कोर्ट ने दिल्ली सरकार को फटकार लगाई थी। कोर्ट ने कहा था कि दिल्ली सरकार 24 घंटों के अंदर कोई फैसला करे। अगर ऐसा नहीं होता तो फिर कोर्ट आदेश जारी करेगी। बता दें कि आज एक बार फिर इस मामले की सुनवाई के बाद बड़ा फैसला लिया गया है। दिल्ली के साथ साथ आस पास के शहरों में भी स्कूल बंद रखने का आदेश जारी कर दिया गया है।

प्रदूषण की बढ़ती समस्या को देखते हुए हरियाणा के फरीदाबाद, सोनीपत, गुरुग्राम और झज्जर के सभी स्कूलों को भी बंद करने का आदेश जारी किया गया है। अगले आदेश तक इन शहरों में सभी स्कूल बंद रहेंगे। प्रदूषण के मामले में सुनवाई के दौरान यूपी सरकार के वकील रंजीत कुमार ने चीनी मिल और दूध की फैक्ट्रियों के बंद होने का मुद्दा उठाया। उन्होंने कोर्ट से कहा कि “यूपी डाउन विंड है जबकि हवा ज्यादातर पाकिस्तान की तरफ से आती है। ऐसे में यूपी की चीनी मिल और दूध की फैक्ट्रियों पर किसी तरह का प्रतिबंध नहीं लगाना चाहिए।”

इसका जवाब देते हुए प्रधान न्‍यायाधीश (CJI) रमना ने कहा कि “तो अब आप पाकिस्तान की इंडस्ट्रीज को बैन कराना चाहते हैं !” जिसके बाद रंजीत कुमार ने कहा कि “इससे किसानों को परेशानी होगी जबकि ये मिलें दिल्ली से 90 किलोमीटर हैं। ऐसे में चीन मिलों के लिए 8 घंटे काफी कम हैं।” जिसके जवाब में CJI ने कहा कि “आप आयोग के पास जाइए, उनको बताइए वो फिर फैसला करेंगे।” गौरतलब हैं कि दिवाली के बाद से ही दिल्‍ली-एनसीआर में प्रदूषण लगातार बढ़ रहा है और खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है।