ओमिक्रॉन के मरीजों की पुष्टि के बाद बढ़ी सरकार की चिंता, कई राज्यों में शुरू हुई…

0
69

कोरोना वायरस के कहर से हर कोई परेशान हैं। बीते कुछ समय से मामलों में कमी गिरावट देखी जा रही थी। लेकिन अब इसके नए वैरिएंट ओमिक्रॉन ने दुनिया भर के देशों को फिर एक बार चिंता में डाल दिया है। ये वैरिएंट दक्षिण अफ्रीका में पाया गया है और ये बाकी और वैरिएंट से काफी खतरनाक है। जिसके कारण बाकी और देशों की चिंता बढ़ गई है। बता दें कि अब भारत में भी ओमिक्रॉन वैरिएंट के मरीजों की पुष्टि हुई है। जिसकी वजह से देश के कई राज्यों में हलचल तेज हो गई है। कई राज्य सरकारों ने पहले से ही इसको लेकर तैयारियां शुरू कर दी थीं और कई राज्य सरकारों ने अब इसकी पुष्टि होने पर एहतियातन कदम उठाने शुरू कर दिए हैं।

गौरतलब हैं कि भारत में ओमिक्रॉन के दो मामले कर्नाटक में पाए गए हैं। इनमें एक मरीज भारत का ही नागरिक है और दूसरा मरीज दक्षिण अफ्रीका का नागरिक है। मामलों की पुष्टि होने के बाद अब एयरपोर्ट पर सख्ती और भी ज्यादा बढ़ गई है। भारत में एंट्री के लिए यात्रियों का टेस्ट करवाना अनिवार्य हो गया है। मिली जानकारी के मुताबिक ओमिक्रॉन से संक्रमित दोनों ही मरीज वैक्‍सीन की दोनों डोज लगवा चुके थे। दोनों के संक्रमित पाए जाने के बाद दोनों को आइसोलेट कर दिया गया और और इनके सैंपल, जीनोम सीक्‍वेंसिंग के लिए भेजे गए।

बता दें कि कर्नाटक से सामने आए दो मरीजों के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने भी राज्य में सख्ती बरतना शुरू कर दी है। ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए सरकार लखनऊ के रेलवे स्टेशन, बस अड्डों और भीड़-भाड़ वाले इलाकों में कोरोना टेस्टिंग बढ़ा दी है। बताते चलें कि आंध्रप्रदेश के संगारेड्डी में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ने लगी है। गुरुवार के दिन यहां 27 छात्रों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिसके चलते प्रशासन परेशानी में है।