पटा’खे जलाने पर क्रिकेट जगत के इन खिलाड़ियों ने उठाए जनता पर सवा’ल..

0
248

कोरोना वाय’रस के बढ़ते क’हर के कार’ण भारत में अं’धकार छाह गया है। इसी अं’धकार को समाप्त करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर जनता को संबोधित किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवा’र का एक वीडियो जारी कर देश को संबोधित किया था। वीडियो में पीएम मोदी ने पूरे देश की एकजुटता दिखाने के लिए जनता से अपील की थी कि अभी 5 अप्रैल को रात 9 बजे नौ मिनट के लिए अपने घर की सारी लाइट बंद कर मेन गेट, बालकनी या छत पर दीया, मोमबत्ती, टॉर्च या मोबाइल की फ़्लैश लाइट जलाएं। पीएम मोदी कि इस बात का पालन करते हुए सभी देशवासियों में दीये जलाए।

जिसमें क्रिकेट जगत के विराट कोहली, रोहित शर्मा जैसे खिलाड़ी शामिल हैं। लेकिन गौतम गं’भीर इससे नि’राश हो गए हैं तो वहीं आर अश्विन और पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान ने भी लोगों पर सवाल उठाए हैं। दरअसल लोगों ने दीये, मोमबत्ती या मोबाइल टॉर्च जलाने के साथ साथ रात में खूब पटा’खे भी जलाए थे। जिसपर भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी और बीजेपी सांसद गौतम गं’भीर ने जनता की इस हरकत की आलोचना करते हुए ट्वीट किया कि “हम जंग के बीच हैं, ये पटाखे जलाने का वक्त नहीं है।” वहीं पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान को भी ये बात जायज नहीं लगी और उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि “सबकुछ सही था जब तक पटा’खे नहीं जलाए गए।”

साथ ही क्रिकेट जगत के ऑफ स्पिनर आर अश्विन ने भी पटा’खे जलाने की बात की आलोचना कर खेद जताया है। अश्विन ने ट्वीट किया कि “मुझे इस बात से चकित हूं कि इन लोगों ने पटा’खे कहां से खरीदे और कब खरीदे ये भी एक महत्वपूर्ण सवाल है।” बता दें कि नरेंद्र मोदी के कहने पर रविवा’र को सभी लोगों ने अपने अपने घरों में दीप जलाए थे। भारत के कप्तान विराट कोहली ने अपनी धर्मपत्नी अनुष्का शर्मा के साथ दिये जलाए साथ ही रोहित शर्मा, हरभजन सिंह, सुरेश रैना के साथ साथ सचिन तेंदुलकर ने भी परिवा’र सहित दीप जला कर देश की शांति के लिए प्रार्थना की।