पेपर लीक होने के कारण रद्द हुई यूपीटीईटी की परीक्षा, यूपी शिक्षा मंत्री बोले “एक महीने के भीतर…”

0
99

उत्तर प्रदेश से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। जानकारी के मुताबिक यूपी सरकार द्वारा यूपीटीईटी (UPTET-2021) की परीक्षा को रद्द कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि इस बार यूपीटीईटी का एग्जाम पेपर लीक हुआ था। जिसकी खबर मिलते ही यूपी सरकार ने इस साल का यूपीटीईटी का एग्जाम की रद्द कर दिया। अब जल्दी ही इस एग्जाम का फिर से आयोजन किया जाएगा। बता दें कि UPTET परीक्षा का आयोजन साल में एक बार होता है। इस परीक्षा के तहत दो पेपर होते हैं, जो कि पेपर 1 और पेपर 2 के नाम से जाने जाते हैं।

उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ सतीश द्विवेदी ने इस मामले की जानकारी देते हुए कहा कि “यूपीटीईटी की परीक्षा के पेपर लीक होने की सूचना मिली है, इसलिए दोनों पालियों की परीक्षा को तत्काल प्रभाव से निरस्त किया जा रहा है। दोबारा एक महीने के भीतर अभ्यर्थियों से बिना कोई शुल्क लिए परीक्षा कराई जाएगी।” उन्होंने आगे बताया कि “इस संबंध में एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं। जांच को यूपी एसटीएफ को सौंपा जा रहा है, ताकि दोषियों को चिह्नित करके उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जा सके।”

इस मामले को लेकर विपक्ष ने भाजपा को निशाना बनाना शुरू कर दिया। यूपी कांग्रेस की ओर से ट्विटर पर एक पोस्ट किया गया। इस पोस्ट में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला बोला। उन्होंने एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि “भर्तियों में भ्रष्टाचार, पेपर आउट ही भाजपा सरकार की पहचान बन चुकी है। आज यूपी टेट का पेपर आउट होने की वजह से लाखों युवाओं की मेहनत पर पानी फिर गया। हर बार पेपर आउट होने पर योगीनाथ की की सरकार ने भ्रष्टाचार में शामिल बड़ी मछलियों को बचाया है, इसलिए भ्रष्टाचार चरम पर है।”