देश को संबोधित करते हुए ‘मन की बात’ में बोले पीएम मोदी, “मैं सत्ता में नहीं सिर्फ सेवा में रहना चाहता हूं…”

0
114

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज एक बार फिर देश को संबोधित किया। रविवार के दिन ‘मन की बात’ (Mann Ki Baat) कार्यक्रम के जरिए पीएम मोदी ने देशवासियों के बीच अपनी बात रखी। इस दौरान उन्होंने कहा कि मेरा पद सिर्फ जनता की सेवा के लिए है। मैं आज भी सत्ता में नहीं हूं। उन्होंने कहा कि “मैं आज भी सत्ता में नहीं हूं और भविष्य में भी सत्ता में जाना नहीं चाहता। मैं सिर्फ सेवा में रहना चाहता हूँ, मेरे लिए ये पद, ये प्रधानमंत्री सारी चीजें ये सत्ता के लिए है ही नहीं, सेवा के लिए है।” इस बीच पीएम मोदी ने प्रकृति को लेकर भी बातचीत की। उन्होंने जनता के सामने प्रकृति को मां बताया।

पीएम ने कहा कि “प्रकृति हमारी मां है, उसका संरक्षण करें। हमारे आस-पास जो भी प्राकृतिक संसाधन हैं, हम उन्हें बचाएं और उन्हें फिर से असली रूप में लौटाएं। इसी में हम सबका हित है, जग का हित है। हमारे देश में अनेक राज्य हैं, अनेक क्षेत्र है जहां के लोगों ने अपनी प्राकृतिक विरासत के रंगों को संजोकर रखा है। इन लोगों ने प्रकृति के साथ मिलकर रहने की जीवनशैली आज भी जीवित रखी है।” इसके अलावा उन्होंने देश की तरक्की को लेकर भी बातचीत की। उन्होंने बताया कि देश बहुत तेज़ी के तरक्की कर रहा है।

यूनिकॉर्न्‍स का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि “आपको जानकार खुशी होगी कि यूनिकॉर्न्‍स की दुनिया में भी भारत तेज उड़ान भर रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक इसी साल एक बड़ा बदलाव आया है। सिर्फ 10 महीनों में ही भारत में हर 10 दिन में एक यूनिकॉर्न बना है। आज भारत में 70 से अधिक यूनिकॉर्न्‍स हो चुके हैं यानि 70 से अधिक स्‍टार्ट अप ऐसे हैं जो एक अरब से ज्यादा के वैल्‍यूएशन को पार कर गए हैं।” इस दौरान उन्होंने आम जनता और सरकार को एक बताया। उन्होंने कहा कि “अब तो देश-भर में आम लोग हों या सरकारें, पंचायत से लेकर संसद तक, अमृत महोत्सव की गूंज है और लगातार इस महोत्सव से जुड़े कार्यक्रमों का सिलसिला चल रहा है।”