ऑनलाइन गेम की लत का शिकार हुआ 13 साल का छात्र, फांसी लगाकर दी….

0
146

आज कल के दौर में टाइमपास करने के लिए बच्चें ऑनलाइन गेम खेलते हैं। इन गेमों की लत इतनी लग चुकी है कि बच्चें गेम के लिए हजारों रुपए खर्च करने को भी तैयार हैं और बहुत से बच्चें तो ऐसा कर भी चुके हैं। हाल ही में मध्य प्रदेश के छतरपुर (Chhatarpur) से भी एक ऐसा ही मामला सामने आया है। छतरपुर में रहने वाले एक 13 साल के छात्र ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। इस छात्र ने आत्महत्या करने से पहले एक पत्र भी लिखा था। इस पत्र के मुताबिक इस बच्चे ने ऑनलाइन गेम फ्री फायर (Free fire) में हजारों रुपए बर्बाद कर दिए थे। जिसकी वजह से उसने अपनी जान दे दी।

जानकारी के मुताबिक छात्र ने अपनी मां के खाते से इस गेम में 40,000 रुपए बर्बाद किए थे। जिसकी जानकारी मिलने के बाद मां ने उसको डांट दिया। जिसके बाद वह अपने काम पर चली गईं। बताते चलें कि छात्र की मां प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग में नर्स हैं और घटना के समय जिला अस्पताल में थीं और छात्र के पिता भी उस समय घर पर मौजूद नहीं थे। घर में केवल छात्र और उसकी बहन थी। घर खाली मिलने पर उसने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी।

पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) शशांक जैन ने इसकी छानबीन की। उन्होंने बताया कि “छठी कक्षा के एक छात्र ने शुक्रवार दोपहर को अपने घर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली और घटनास्थल से एक सुसाइड नोट मिला है।” सुसाइड नोट में छात्र ने लिखा कि “मैंने मां के खाते से 40 हजार रुपए निकाले और इस पैसे को “फ्री फायर” (Free Fire) गेम में बर्बाद कर दिया।” इसके साथ ही छात्र ने अपनी मां से माफी भी मांगी। बता दें कि ये पहला मामला नहीं है इससे पहले भी मध्य प्रदेश में ऐसा मामला पेश आ चुका है।