N-95 मस्क को लेकर सरकार की चे’तावनी, कहा वॉल्व वाले…

0
337

कोरो’ना वाय’रस का संक्र’मण तेज़ी से फैलता जा रहा है। संक्रम’ण से बचने के लिए इस वक़्त मास्क लगाना बेहद जरूरी हो गया है। लेकिन आपको ये जान कर है’रानी होगी कि, कोरो’ना के बढ़ते मामलों को मद्देनजर रखते हुए सरकार की ओर से मास्क (Mask) को लेकर एक एडवाइज़री जारी की गई है। इस एडवाइज़री में कोरो’ना संक्र’मण से बचाव के लिए इस्तेमाल होने वाले N-95 मास्क को कोरो’ना के लिए ख़’तरनाक बताया गया है। सरकार के स्वास्थ्य सेवा महानिदेशक डॉ. राजीव गर्ग द्वारा राज्यों और केन्द्रशासित प्रदेशों को पत्र लिखा और बताया कि इसके प्रयोग पर रोक लगाई जाए। सरकार द्वारा बताया गया है कि, N-95 मास्क में लगा वॉल्व कोरो’ना वाय’रस (Coronavirus) को बाहर नि’कलने में मदद नहीं करता है। एन-95 मास्क कोरो’ना संक्रम’ण को रोकने में पूरी तरह से ना’कामयाब है।

केंद्र सरकार द्वारा सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को पत्र भेज गया और लोगों के वॉल्व लगे एन-95 मास्क पहनने के खि’लाफ चे’तावनी जारी की और कहा कि, इससे वाय’रस का प्रसार नहीं रुकता। यह कोविड-19 म’हामा’री को रोकने के लिए उठाए गए कदमों के विपरीत है। स्वास्थ्य मंत्रालय में स्वास्थ्य सेवा महानिदेशक राजीव गर्ग द्वारा राज्यों के स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मामलों के प्रधान सचिवों को पत्र लिखा गया और कहा है कि, प्राधिकृत स्वास्थ्य कर्मियों की जगह लोग एन-95 मास्क का अनुचित इस्तेमाल कर रहे हैं, खासकर उनका जिनमें वॉल्व लगा है।

स्वास्थ्य मंत्रालय में स्वास्थ्य सेवा महानिदेशक राजीव गर्ग ने कहा कि, आपके संज्ञान में लाया जाता है कि वॉल्व लगा एन-95 मास्क कोरो’ना वाय’रस के प्रसार को रोकने के लिए अपनाए गए कदमों के वि’परीत है। क्योंकि यह वाय’रस को मास्क के बाहर आने से नहीं रोकता। इसके मद्देनजर में आपसे आग्रह करता हूं कि सभी संबंधित लोगों को निर्देश दें कि वे फेस/माउथ कवर के इस्तेमाल का पालन करें और एन-95 मास्क के अनुचित इस्तेमाल को रोकें। केंद्र सरकार की तरफ से जारी की गई एडवाइज़री के मुताबिक कोरो’ना संक्रम’ण से बचने के लिए ट्रिपल लेयर का मास्क सबसे बेहतर साबित होता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा भी कहा गया कि ट्रिपल लेयर मास्क बचाव के लिए बेहतर है, और इसी के मुत्तालिक संगठन ने दुनिया भर के सभी देशों में दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं। यही कारण है कि अब चिकित्सक और स्वास्थ्य कर्मचारी एन-95 के साथ ट्रिपल लेयर मार्क्स भी प्रयोग कर रहे हैं।