मूसलाधार बारिश ने बढ़ाई सरकार की चिंता, बाढ़ की चपेट में आए यूपी के 1100 से ज्यादा गांव..

0
123

भीषण गर्मी से जूझने के बाद अब देश के कई हिस्सों में लोग मूसाधार बारिश का सामना कर रहे हैं। तेज बारिश का कारण कई इलाकों में बाढ़ आ गई है। जिससे लोगों का काफी नुकसान हो रहा है। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि अभी कई और इलाकों में बाढ़ आने की संभावना है। इन इलाकों में बाढ़ के पूरे आसार हैं, नदियों में पानी का लेवल खतरे के निशान से भी ऊपर जा चुका है। जिसको देखते हुए प्रशासन की परेशानी में लगातार इजाफा हो रहा है। मिली जानकारी के अनुसार केरल के कोट्टायम में लगातार बारिश के चलते घरों और रास्तों में जलभराव हो गया है।

वहीं, अगर बात करें उत्तर प्रदेश की तो यूपी में भी कई जिलों में जलभराव हो चुका है और कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं। सूत्रों के अनुसार उत्तर प्रदेश के 18 जिलों के 1,111 गांव बाढ़ की चपेट में हैं और हजारों हेक्टेयर फसल प्रभावित हुई है। यूपी में हालात काफी गंभीर हैं। वाराणसी में हालत बदतर हैं, जहां घाटों के पानी में डूब जाने के कारण शवदाह में काफी मुश्किलें आ रही हैं। वहीं, अगर बात करें बलिया की तो बलिया में बाढ़ के पानी में डूबने से एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है।

सूत्रों के मिली जानकारी के अनुसार बाढ़ से प्रभावित 1,111 गांव में से करीब 116 गांव से बाकी और क्षेत्रों का संपर्क पूरी तरह से टूट गया है। प्रदेश के बाढ़ प्रभावित जिलों में 344 शरणालय बनाए गए हैं, जहां लगभग 13,496 लोगों को रखा गया है। राहत और बचाव कार्य लगातार जारी है। कुल 26 टीमों को बचाव कार्य के लिए तैनात किया गया है।