मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक तीर से साधा कई लोगों पर निशाना, इस तरह से की सबकी बोलती बंद..

0
119

बिहार में जारी सियासी लड़ाई के बीच राज्य की नीतीश कुमार सरकार ने सभी दलों का मुंह बंद कर दिया है। हाल ही में अफवाहें उड़ रही थी कि राज्य की एनडीए सरकार गिर जाएगी। लेकिन नीतीश सरकार के एक ही निशाने से कई दल शिकार हो गए। सीएम नीतीश ने सभी दलों की बोलती बंद कर दी। बता दें कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के जन्मदिन के मौके पर बिहार एनडीए की सहयोगी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष व बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने राजद सुप्रीमो से करीब 12 मिनट तक बात की थी। मांझी के साथ साथ एनडीए सरकार की अन्य सहयोगी विकासशील इंसान पार्टी के मुकेश सहनी ने भी लालू से फोन पर बात की। जिसके बाद से अटकलें तेज हो गई।

बता दें कि इन अटकलबाजियों और कयासबाजियों के बीच मुख्यमंत्री की एक चाल ने सब कुछ बदल दिया। दरअसल, चिराग पासवान के नेतृत्व के खिलाफ लोक जनशक्ति पार्टी में बगावत और छह में पांच सांसदों का सीएम नीतीश कुमार के साथ खड़े होने की बात सामने आते ही सभी दलों के सुर बदल गए। जहां सब नीतीश कुमार के खिलाफ जाने की सोच रहे थे अब वही सब नीतीश के खिलाफ जाने वाले लोगों की बुराई कर रहे हैं। बिहार की हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) ने चिराग पासवान पर हमला बोलते हुए कहा कि “बिहार के सीएम नीतीश के खिलाफ साजिश रचने वालों के साथ ऐसा ही होगा।”

इसके साथ ही बिहार में गठबंधन सरकार बनने की बात कहने वाली कांग्रेस पार्टी के भी सुर बदलते हुए नजर आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि कांग्रेस के 10 विधायक जेडीयू के लगातार संपर्क में हैं। जो कभी भी पार्टी से बगावत कर सकते हैं। इस बीच चिराग पासवान को मिले झटके से कांग्रेस भी हिल गई है। कांग्रेस के प्रवक्ता प्रेमचंद् मिश्र सीएम नीतीश से कांग्रेस के रिश्ते की दुहाई देने लगे हैं और उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस एकजुट है।

उन्होंने कहा कि “एलजेपी को आपने तोड़ दिया, लेकिन कांग्रेस कोई एलजेपी है क्या? नीतीश कुमार कांग्रेस को नाराज कर देंगे क्या? नीतीश कुमार राजनीतिक व्यक्ति हैं वो कभी भी नहीं चाहेंगे कि कांग्रेस का दरवाजा उनके लिए बंद हो जाए।” इस दौरान उन्होंने ये भी दावा किया कि बिहार में एनडीए की सरकार गिरने जा रही है और गठबंधन की सरकार बनेगी।