CAA प्रोटेस्ट: मेंगालुरु में दो लोगों की मौ’त को लेकर कर्णाटक CM ने दिया ये आदेश

0
211

बेंगलुरु: कर्णाटक मुख्यमंत्री नागरिकता संशोधन विधेयक के ख़िला’फ़ चल रहे विरोध में दो प्रदर्शनकारियों की मौ’त से नाराज़ हैं. कर्णाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदयुरप्पा ने पहले ही कहा था कि शांतिपूर्वक प्रदर्शन करने वालों पर किसी तरह का लाठीचार्ज नहीं होगा. पूरे देश में कर्णाटक की ही एक ऐसी सरकार है जहाँ भाजपा सत्ता में है लेकिन उसने प्रदर्शनकारियों के प्रति सहानुभूति दिखाई है.

अब ख़बर है कि मुख्यमंत्री येदयुरप्पा ने मेंगालुरु में दो प्रदर्शनकारियों की मौत पर CID जाँच का आदेश दिया है. दिसम्बर 19 को नागरिकता संशोधन विधेयक के ख़िलाफ़ पूरे राज्य में प्रदर्शन किया गया था.आपको बता दें कि पूरे देश में CAA और NRC के ख़ि’लाफ़ प्रोटेस्ट चल रहा है. इस प्रोटे’स्ट में सबसे आगे छात्र हैं. जहाँ पूरे देश में इसको लेकर विरो’ध प्रदर्शन हुआ है वहीँ कर्णाटक में भी बड़े स्तर पर विरो’ध प्रदर्शन हुआ.

कर्णाटक में कुछ जगह पर हिं’सा हुई, ऐसी ख़बरें भी आयीं. इसमें पुलि’स पर आ’रोप लगा कि पु’लिस ने बेहतर समझ का परिचय नहीं दिया वहीँ प्रोटेस्ट से पहले राज्य की भाजपा सरकार ने कहा था कि किसी प्रदर्श’नकारी पर लाठी नहीं चलनी चाहिए. इसके बाद भी मंगलुरु में पु’लिस की ओर से ग़ल’त तरीक़ों का इस्तेमाल किया गया जिसकी वजह से प्रदर्शन में लोगों की जान और माल की क्ष’ति हुई.

कर्णाटक सरकार ने माना है कि मंगलुरु में दो लोगों की जान प्र’दर्शन में गई है. 19 दिसम्बर को हुए प्रोटेस्ट में दो लोगों को अपनी जान गँवानी पड़ गई. कर्णाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदयुरप्पा ने इसके बाद घो’षणा की है कि वो इन दोनों के परिवार को 10-10 लाख रुपए की मदद राशि देगी.नागरिकता संशोधन विधेयक और NRC को लेकर विरो’ध अभी भी बना हुआ है. पिछले दिनों ये आ’न्दोलन और ज़ोर पकड़ने लगा है. केंद्र सरकार भी बैकफुट पर है लेकिन जिस तरह से उसने नागरिकता संशोधन विधेयक पेश किया था वो उसकी साख का विषय हो गया था.