लगातार ट्रेन और सड़क हादसों शिकार हो रहे प्रवासी मज़दूर,10 दिनों में 104 की मौत….,

0
373

कोरोना वायरस के बढ़ते संकट को देखते हुए 23 मार्च से देशव्यापी लॉकडाउन चल रहा है।लॉकडाउन के समय में देश में सबसे ज्यादा संकट में इस समय दिहाड़ी मजदूर है, क्योंकि सभी गतिविधियां रुक जाने से उनकी आर्थिक स्थिति बिल्कुल खराब हो गई है और 2 जून की रोटी की व्यवस्था कर पाना भी उनके लिए बेहद मुश्किल हो गया है। ऐसे में देश के विभिन्न हिस्सों में अलग-अलग राज्यों से फं’से हुए दिहाड़ी मजदूर बेहद मु’श्किलों का सामना करते हुए हजारों हजार किलोमीटर पैदल ही अपने गृह जनपद की तरफ निकल चुके हैं और ऐसे में कई मज़दूर भी’षण हादसे के भी शि’कार हो गये और उनकी जा’नें चली गयीं।

आपको बता दें कि,इस लॉकडाउन में पिछले 10 दिनों में सड़क और रेल हादसों को मिलाकर 104 प्रवासी मजदूरों की जिंदगियां छीन लिया और साथ ही साथ 93 मजदूर गंभीर रूप से घायल है।देशभर में होने वाली भीषण हादसे जिससे देशभर की आत्मा काँप उठी।

☆ उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में शनिवार सुबह ट्रक और डीसीएम की टक्कर में 24 मजदूरों की जान चली गई लगभग 35 मजदूर गंभीर रूप से घायल है। घायल मजदूरों को फिलहाल सैफई पीजीआई अस्पताल भेजा गया है।

☆ महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश लौट रहे कुछ मजदूर मध्य प्रदेश के सागर जिले में दुर्घटना के शिकार हो गए, जिसमें 5 मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई और 15 गंभीर रूप से घायल है।

☆ उसी में,मध्य प्रदेश के गुना में फिर शुक्रवार देर हुए भीषण सड़क हादसे में 3 प्रवासी श्रमिकों की मौत हो गई।तीनों श्रमिक उत्तर प्रदेश के थे और मुंबई से अपने घर लौट रहे थे।ये श्रमिक एक पिकअप वाहन में सवार थे जिसे एक ट्रक ने टक्कर मार दी और 15 मजदूर घायल हो गए हैं।

☆ उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में बुधवार देर रात 11:45 बजे रोडवेज बस ने पंजाब से बिहार के गोपालगंज पैदल जा रहे मजदूरों को कुचल दिया।इस हादसे में 6 लोगों की मौके पर भी मौत हो गई और 4 मजदूर घायल बताए जा रहे हैं।

☆ महाराष्ट्र के औरंगाबाद में बीते गुरुवार देर रात हुए रेल हादसे में 16 प्रवासी मजदूरों की दर्दनाक मौत हो गई। हादसे में जान गंवाने वाले सभी 16 मजदूर मध्य प्रदेश के रहने वाले थे।ये सभी मजदूर औरंगाबाद से मध्य प्रदेश स्थित अपने गृह जनपद के लिए ​पैदल ही निकले थे। करीब 40-45 किलोमीटर पैदल चलने के बाद ये सभी थककर औरंगाबाद-जालना रेलवे ट्रैक पर सो रहे थे।

☆ 10 मई को मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले के मुंहवानी थाने के पाठा गांव के आस पास आम से भरा ट्रक अनियंत्रित होकर पलट गया.।इस ट्रक में 20 मजदूर सवार थे, जो हैदराबाद से उत्तर प्रदेश एटा और झांसी जा रहे थे।5 मजदूरों की मौत ट्रक में दबकर हो गई, जबकि 2 की हालत गंभीर बताई जा रही है।