जांच के दौरान हुई IAS अधिकारी के बेटे की मौत, पुलिस पर लगा गोली मारने का आरोप, बोले “मेरे सामने..”

0
84

देश में भ्रष्ट्राचार के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। भ्रष्ट्राचार के मामले में अब तक कई बड़े अधिकारियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस बीच चंडीगढ़ में एक आईएएस अधिकारी का भी नाम सामने आया है। जिसको पंजाब पुलिस ने अपनी हिरासत में ले लिया है। दुखद खबर ये रही कि इस दौरान अधिकारी के बेटे की गोली लगने से मौत हो गई। बेटे की मौत को लेकर अधिकारी का कहना है कि पंजाब पुलिस ने उसको गोली मारी है। जबकि पंजाब पुलिस का कहना है कि उसने पकड़े जाने के डर से खुद को गोली मार आत्महत्या कर ली है।

ये मामला तब पेश आया है जब पंजाब पुलिस भ्रष्टाचार के एक मामले में चंडीगढ़ में आईएएस अधिकारी संजय पोपली को गिरफ्तार करने उनके घर पहुंची। यहां से पुलिस को 12 किलो सोना और 3 किलों मिला। इसके साथ ही छानबीन के दौरान एक स्टोर रूम में कई स्मार्ट फोन भी मिले। पुलिस के मुताबिक ये सभी सामान एक लेदर के बैग में रखा हुआ था। जैसे ही ये बैग पुलिस के हाथ लगा तभी अधिकारी के बेटे कार्तिक ने खुद को गोली मार ली।

लेकिन अधिकारी का कहना है कि पुलिस ने उनकी आंखों के सामने उनके बेटे को खड़ा कर गोली मारी है। उन्होंने कहा कि इस मामले का चश्मदीद गवाह मैं हूं। जानकारी के अनुसार आईएएस अधिकारी संजय पोपली और उनके एक सहयोगी को नवांशहर में सीवरेज पाइप डालने के टेंडर को मंजूरी देने के लिए कथित तौर रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया था। जिसके चलते इस मामले की जांच के लिए पुलिस अधिकारी के घर पहुंची थी, तभी ये हादसा पेश आया।