इतने महीने और करेगा कोरोना वाय’रस, भारत को परे’शान..

0
288

दुनियाभर में कोरोना वाय’रस का संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है। इस वाय’रस से संक्रमित लोगों की संख्या में आए दिन इज़ाफ़ा हो रहा है। जिसके कार’ण सरकार ने देश भर में लॉकडाउन कर दिया है और साथ ही लोगों से घरों में रहने की अपील की है। भारत में कोरोना वाय’रस से बढ़ते प्रभाव पर एक यूनिवर्सिटी की रिपोर्ट सामने आई है जिसमें बताया है कि भारत में अभी वाय’रस का खत’रा टला नहीं है। रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि भारत में वाय’रस का ख’तरा चार महीने और चलेगा। इस रिपोर्ट में कोरोना वाय’रस से लड़ने के तरीके भी बताए गए हैं।

जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी और द सेंटर फॉर डिजीज डायनेमिक्स, इकॉनमिक्स एंड पॉलिसी ने यह रिपोर्ट अलग अलग वेबसाइट्स द्वारा लिए गए आकंड़ों का इस्तेमाल कर के बनाई गई है। रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि कोरोना वाय’रस भारत में जुलाई या अगस्त में खत्म होगा। इस रिपोर्ट में 5 अलग अलग राज्यों के ग्राफ भी दिए हैं। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि “पूरे देश में लोग अप्रैल के दूसरे हफ्ते से मई के दूसरे हफ्ते तक कोरोना से संक्रमित होने के चलते अस्पताल में भर्ती होंगे। फिर जुलाई के दूसरे हफ्ते तक यह संख्या कम होने लगेगी और फिर अगस्त तक इसके पूरी तरह से खत्म होने की उम्मीद है। ग्राफ के अनुसार करीब 25 लाख लोग संक्रमित होंगे।”

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में कितने लोग कोरोना वाय’रस से संक्रमित है उसका पता नहीं चल पा रहा है। इसमें कहा है कि कुछ लोग ऐसे भी होंगे जिनमें कोरोना वाय’रस के लक्ष’ण तो होने लेकिन उनका स्तर बहुत हल्का होगा, जिसके तेज होने के बाद वाय’रस की पुष्टि होगी। रिपोर्ट में बताया गया है कि “वृद्ध जन सोशल डिस्टेंसिंग का खयाल रखें। जितना ज्यादा लॉकडाउन होगा उतने ही लोग बचे रहेंगे। सोशल डिस्टेंसिंग को छोड़कर और कोई रास्ता नहीं है। कहा गया है कि भारत में कम से कम 10 लाख वेंटिलेटर्स की जरूरत होगी और अभी यहां सिर्फ 30-35 हजार वेंटिलेटर ही हैं। अमेरिका में 1.60 लाख वेंटिलेटर हैं लेकिन वह कम पड़ रहे हैं।” साथ ही यह भी कहा गया है कि आने वाले तीन महीनों में भारत के अस्पतालों को बहुत मेहनत करनी होगी। चीन और बाक़ी देशों की तरह भारत में भी अस्थायी अस्पताल बनाने पड़ेंगे। इसके साथ यह ध्यान भी रखना होगा कि अस्पतालों से संक्रम’ण ना फैले।