गुलदार ने तीन साल के बच्चे को मार डाला

0
95

टिहरी : उत्तराखंड में जंगली जानवरों का आतंक कम होने का नाम नहीं ले रहा है। खासकर गुलदार लोगों की जान के दुश्मन बने हुए हैं। गुलदार आसान शिकार की तलाश में आबादी वाले इलाकों में पहुंच जाते हैं, जहां वो इंसानों को अपना निवाला बनाते हैं। ताज़ा मामला टिहरी जिले के प्रताप नगर का है, जहां एक तीन साल के बच्चे को गुलदार ने मार डाला।

 

लंबगांव में प्रतापनगर ब्लॉक के भदूरा पट्टी के भरपूरिया गांव में गुलदार ने एक तीन साल के मासूम बच्चे को मौत के घाट उतार दिया। वह परिवार का इकलौता चिराग था। ग्रामीणों ने वन विभाग से गुलदार को नरभक्षी घोषित कर मार गिराने की मांग की है।

 

बच्चे पर हमला करने के गुलदार उसे उठाकर ले गया। काफी देर बाद बच्चा घर से 50 मीटर दूर धान के खेतों के बीच रोते हुए मिला। परिजन उसे उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लंबगांव लेकर पहुंचे। वहां पहुंचने पर डॉक्टरों से उसे मृत घोषित कर दिया।

 

सवाल ये है कि आखिर कब तक लोई ऐसे ही अपनी जानें गंवाते रहेंगे। गुलदार के हमलों में लगातार लोग मर रहे हैं। सरकार गुलदार के आतंक का समाधान खोजने के बजाय मौत पर मुआवजे की राशि बढ़ा रही है।