महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री जेल में बेहोश, अस्पताल लाया गया

0
15

मुंबई: जेल में बद महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी नेता अनिल देशमुख जेल में बेहोश हो गए। उनको सरकारी जेजे अस्पताल ले जाया गया। जेल के एक अधिकारी ने बताया कि भ्रष्टाचार के एक कथित मामले में यहां आर्थर रोड जेल में बंद देशमुख को चक्कर आया और वह बेहोश हो गए।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता ने सीने में दर्द की शिकायत की। अधिकारी ने कहा कि उनका रक्तचाप बढ़ गया था और ईसीजी रिपोर्ट असामान्य थी, उन्होंने कहा कि देशमुख का अभी अस्पताल में इलाज चल रहा है। उन्हें पहले नवंबर 2021 में प्रवर्तन निदेशालय ने और बाद में केंद्रीय जांच ब्यूरो ने गिरफ्तार किया था। फिलहाल वह न्यायिक हिरासत में है।

सीबीआई ने दर्ज किया था मुकदमा
जुलाई, 2022 में सीबीआइ की विशेष अदालत ने महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख व उनके दो पूर्व सहयोगियों की याचिका को खारिज कर दिया था। अनिल देशमुख ने भ्रष्टाचार मामले में जमानत मांगी थी। सीबीआइ ने ही देशमुख के खिलाफ यह मामला रजिस्टर किया था। कोर्ट ने इस मामले में दो अन्य आरोपियों देशमुख के पूर्व पर्सनल सेक्रेटरी संजीव पलांडे और पूर्व पर्सनल असिस्टेंट कुंदन शिंदे की जमानत वाली याचिका भी खारिज कर दी।

ये है पूरा मामला
मार्च, 2021 में पूर्व मुंबई पुलिस कमिश्नर परम बीर सिंह ने आरोप लगाया था कि राज्य के गृहमंत्री रह चुके एनसीपी नेता देशमुख ने पुलिस अधिकारियों को आदेश दिया था कि हर माह शहर के बार व रेस्टोरेंट से 100 करोड़ रुपये की वसूली की जाए। इसके बाद पिछले साल अप्रैल में हाई कोर्ट ने एडवोकेट द्वारा मामले में दायर याचिका की सुनवाई करते हुए सीबीआइ को मामले में जांच करने का आदेश दिया।

इसके बाद सीबीआइ ने अपनी जांच के तहत देशमुख व उनके सहयोगियों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की। सीबीआइ की एफआइआर के आधार पर प्रवर्तन निदेशालय ने भी देशमुख के खिलाफ मनी लान्ड्रिंग का एक मामला दर्ज किया है। ईडी ने देशमुख को नवंबर 2021 में गिरफ्तार कर लिया था और अभी वे न्यायिक हिरासत में हैं।