दिल्ली में पहले शराब और अब पेट्रोल-डीजल पर भी केजरीवाल सरकार ने लगाया टैक्स

0
374

देश में 3 मई से चल रहे तीसरे लॉकडाउन में ग्रीन जोन में आने वाले क्षेत्रों में कुछ छूटे भी दी गयीं है। ऐसे में दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने शराब पर टैक्स लगाने के बाद पेट्रोल और डीजल पर भी कुछ टैक्स लगा दिया है।केजरीवाल सरकार के फैसले के बाद पेट्रोल की कीमत में 1.67 रुपये प्रति लीटर और डीजल 7.10 रुपये प्रति लीटर की दर से महंगा हो गया है।

दरअसल, देश की राजधानी दिल्ली में लोगों की चहलकदमी को कम करने के लिए तथा सोशल डिस्पेंसिंग को मेनटेन रखने के लिए दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर वैट बढ़ाने का फैसला लिया है।इसके साथ ही अब दिल्ली में आज से पेट्रोल 71.26 रुपये लीटर हो गया है और 7 रुपये से ज्यादा की वृद्धि के बाद डीजल 69.29 रुपये लीटर हो गया है।

जाहिर है कि, देश में इतने दिनों से चल रही लॉक डाउन न की वजह से अर्थव्यवस्था पूरी तरीके से डगमगा चुकी है।राज्यों को केंद्र से मिलने वाले जीएसटी का हिस्सा छोड़ दें तो उनकी आय का सबसे बड़ा जरिया शराब पर टैक्स, जमीन की रजिस्ट्री और पेट्रोल-डीजल से मिलने वाला वैट है। लॉकडाउन की वजह से इन सभी गतिविधियों को देखते हुए केजरीवाल सरकार ने वैट लागू करने का फैसला लिया है।

वहीं इससे पहले केंद्र सरकार ने देश में शराब की दुकानों को खोलने का फैसला लिया गया।क्योंकिकुल राजस्व का 20 से 30 फीसदी हिस्सा शराब की बिक्री से ही आता है। इसी के चलते दिल्ली सरकार ने शराब के दामों पर भी 70 प्रतिशत अतिरिक्‍त कोरोना टैक्‍स लगाने की घोषणा की है।इसके बाद से 1000 रुपए के शराब की बोतल के लिए लोगों को 1700 रुपए का भुगतान करना होगा।जा’नकार हैरानी होगी कि, शराब की दुकानें खुलते हैं देश में जगह-जगह पर बड़ी से बड़ी लाइन दुकानों के सामने देखने को मिली।