दिल्ली में बिगड़ते हालात के बीच लग सकती हैं कुछ और पाबंदियां, DDMA की बैठक के बाद…

0
79

भारत में कोरोना वायरस का प्रकोप तेज़ी के साथ बढ़ रहा है। जिससे भारत सरकार काफी परेशान हैं। सिर्फ भारत सरकार ही नहीं बल्कि बढ़ते कोरोना संकट से राज्य सरकारें भी परेशान हैं। कई राज्यों में कोरोना का कहर कुछ ज्यादा ही देखने को मिल रहा है। महाराष्ट्र और दिल्ली ऐसे राज्य हैं जहां कोरोना के रोजाना हजारों मामले सामने आ रहे हैं। दिल्ली में बिगड़ते हालात पर चर्चा करने के लिए दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (DDMA) की बैठक जारी थी, जो अब समाप्त हो चुकी है। बताया जा रहा है कि दिल्ली में बढ़ते कोरोना के कारण अब और भी तरह से सख्ती जारी की जा सकती हैं।

सूत्रों का कहना है कि दिल्ली में रेस्टोरेंट में बैठकर खाने पर पाबंदी लग सकती है, हालांकि रेस्टोरेंट से होम डिलीवरी और टेकअवे की सुविधा चल सकती है। वहीं, आपको बता दें कि राज्य में वीकेंड कर्फ्यू की भी घोषणा की जा चुकी है। बढ़ते कोरोना संकट के कारण राज्य सरकार की परेशानी बढ़ती जा रही है। गौरतलब हैं कि बीते दिन राज्य में 22 हजार से ज्यादा कोरोना के नए मामले दर्ज किए गए हैं। वहीं, इस दौरान 17 मरीजों की मौत भी हुई। पॉजिटिविटी रेट भी बढ़कर 23.53% पर पहुंच गया है।

रविवार को राज्य के हालात पर चर्चा के किए सीएम केजरीवाल भी सामने आए थे। इस बीच उन्होंने कहा कि “लॉकडाउन लगाने की कोई मंशा नहीं है। एलजी और वह पूरे हालात पर नजर रखे हुए हैं। केजरीवाल ने कहा था कि केंद्र सरकार से लगातार संपर्क में हैं और केंद्र का पूरा सहयोग मिल रहा है। पहले भी दिल्ली वालों ने मिलकर कोरोना की लहर से पार पा लिया था, इस बार भी हम पार पा लेंगे। जिन्होंने वैक्सीन नहीं लगवाई है, वह वैक्सीन जरूर लगवा लें। वैक्सीन का मतलब यह नहीं है कि आप संक्रमित नहीं होंगे, लेकिन इसे लगवाने से आपकी जान के ऊपर खतरा कम हो जाता है। हमारी कोशिश होगी कि कम से कम पाबंदिया लगे, ताकि लोगों के सामने रोजी-रोटी की समस्या पैदा न हो।”