कोरोना वायरस की चपेट में आने से लोकपाल सदस्य जस्टिस एके त्रिपाठी का नि’धन

0
248

कोरोन वायरस के संक्रमण से पूरे देश में संकट की स्थिति बनी हुई है।देश मे वायरस से संक्रमित लोगों की सँख्या 39,695 हो गयी है।वहीं लोकपाल के सदस्य और छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश जस्टिस एके त्रिपाठी की देर रात कोरोना संक्रमण के कारण मृत्यु हो गई। लगभग 1 महीने पहले 2 अप्रैल को जस्टिस एके त्रिपाठी को कोरोना वायरस की पुष्टि होने पर एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था, 62 वर्षीय जस्टिस एके त्रिपाठी को एम्स में इलाज के दौरान वेंटिलेटर पर रखना गया था, धीरे-धीरे हालत गंभीर होने के कारण शनिवार शाम में उनकी मृ’त्यु हो गई।

बताते चलें कि जस्टिस एके त्रिपाठी के अलावा उनकी बेटी और रसोईया भी करोना पॉजिटिव पाए गए थे, हालांकि ये दोनों ही लोग दोनों पूरी तरीके से स्वस्थ होकर घर वापस आ गए हैं।गौरतलब है कि जस्टिस त्रिपाठी को 23 मार्च को लोकपाल के न्यायिक सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया था।जस्टिस एके त्रिपाठी भ्रष्टाचार विरोधी लोकपाल के चार न्यायिक सदस्यों में से एक थे। वो बिहार अतिरिक्त महाधिवक्ता के पद पर भी कार्य कर चुके थे। इसके अलावा वे पटना हाईकोर्ट के अतिरिक्त न्यायाधीश के पद पर पदोन्नत हुए जिसके बाद मुख्य न्यायाधीश बने।

जा’नकारी के लिए बता दें कि,छत्तीसगढ़ के और राज्यों के मुकाबले इस समय कोरोना के संक्रमण कम है।छत्तीसगढ़ राज्य में अब तक कोरोना वायरस के कुल 18039 संभावित व्यक्तियों की पहचान कर सैंपल जांच किया गया है। अभी तक 17199 परिणाम निगेटिव प्राप्त हुए हैं। बाकी 797 की जांच जारी है। अभी तक वहां मात्र 43 संक्रमित मरीज़ों की पुष्टि हुई है, जो कि एक सकारात्मक खबर है।

इसके साथ ही देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 39,980 हो गई है। जिसमें 28,046 सक्रिय हैं, 10,633 लोग स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और 1301 लोगों की मौत हो चुकी है।केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 2644 नए मामले सामने आए हैं और 83 लोगों की मौत हुई है, जो अब तक एक दिन में सर्वाधिक मौत है।