कोरोना वायरस के बाद अब ज़ीका वायरस ने बढ़ाई चिंता, केरल के बाद अब महाराष्ट्र में भी…

0
117

देश में कोरोना वायरस का खतरा टला नहीं था कि अब एक और वायरस लोगों पर खतरे की तरह मंडरा रहा है। जानकारी के मुताबिक बीते करीब एक महीने से ज़ीका वायरस (Zika Virus) ने सबकी चिंताएं बढ़ा दी हैं। बताया जा रहा है कि ज़ीका वायरस भी कोरोना वायरस की तरह ही एक खतरनाक वायरस है। अभी तक इस वायरस से संक्रमित व्यक्ति केरल में पाए जा रहे थे। लेकिन शनिवार को इस वायरस से संक्रमित एक मरीज महाराष्ट्र में भी पाया गया है। हम लोगों में बहुत से लोग हैं जो इस वायरस के बारे में नहीं जानते। तो चलिए आज हम आपको इसकी जानकारी देते हैं।

लोगों के मन में पहला सवाल यही उठता है कि ये वायरस भी क्या कोरोना वायरस जितना खतरनाक है.? विशेषज्ञों के मुताबिक ज़ीका वायरस के शुरुआती संक्रमण SARS-CoV2 की तरह है। ये वही वायरस है जिससे कोरोना होता है। बता दें कि ये वायरस एडीज एजिप्टी मच्छर के काटने से फैलता है और इसका इलाज भी किसी चुनौती से कम नहीं है। दूसरा सवाल उठता है इसके लक्षण का, आखिर हम कैसे इस वायरस की पहचान करें.? रिपोर्ट्स के मुताबिक वायरस से संक्रमित ज्यादातर लोगों में लक्षण विकसित नहीं होते हैं। इसके लक्षण बहुत कम मरीजों में देखे गए हैं। इनमें बुखार, त्वचा पर चकत्ते, नेत्रश्लेष्मलाशोथ, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द, अस्वस्थता और सिरदर्द शामिल हैं।

तीसरा और सबसे महत्वपूर्ण सवाल तो ये है कि हम इस वायरस से किस तरह बच सकते हैं.? तो चलिए जानते हैं एक्सपर्ट्स की सलाह। एक्सपर्ट्स का कहना है कि “जीका वायरस संक्रमण की रोकथाम के दिशा निर्देश डेंगू जैसे अन्य अर्बोवायरस संक्रमणों के समान हैं।” एक्सपर्ट्स की सलाह है कि बाल्टी, फ्लावर पॉट्स या टायर जैसे पानी रखने वाले कंटेनरों को खाली करके, साफ करके या ढककर मच्छरों के प्रजनन को कम किया जाए। इस तरह ही इस वायरस से बचा जा सकता है।