कोरोना संकट के बीच IIT दिल्ली की रिपोर्ट, दिल्ली में रोजाना दर्ज होंगे 45 हजार तक मामले…

0
94

कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने पूरे देश में तबाही मचा रखी है। हालांकि अब मामलों में गिरावट आई है। लेकिन कुछ समय पहले देश में हर दिन कोरोना ने 4 लाख से भी ज्यादा मरीज दर्ज किए जा रहे थे। जानकारी के मुताबिक अब बीते 24 घंटों में 1.74 लाख मामले दर्ज किए गए हैं। हालांकि अभी ये आंकड़ा भी कम नहीं है। खबर है कि दूसरी लहर के खत्म होते ही देश में तीसरी लहर भी आएगी और इस लहर में पहले से ज्यादा तबाही होने की संभावना है। इस बीच आईआईटी दिल्‍ली की ओर से कोरोना की तीसरी लहर को लेकर एक रिपोर्ट तैयार की गई है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना की तीसरी लहर देश में दूसरी लहर से भी ज्यादा तबाही मचा सकती है। हर दिन करीब 30-60 फीसदी तक ज्‍यादा मामले देखने को मिल सकते हैं। आईआईटी दिल्‍ली की रिपोर्ट में बताया गया कि कोरोना की तीसरी लहर में दिल्ली में करीब 45000 तक मामले रोजाना सामने आ सकते हैं। इस रिपोर्ट के बारे में जानकर हर कोई हैरान हो रहा है। रिपोर्ट में कहा गया कि अगर इस लहर की तैयारी अभी से नहीं की गई तो देश में काफी लोगों की जान जा सकती हैं।

दिल्‍ली हाईकोर्ट में फाइल की गई रिपोर्ट में कहा गया है कि “मामले इस हद तक गंभीर भी हो सकते हैं कि करीब नौ हजार लोगों को रोजाना अस्‍पताल में भर्ती करने की जरूरत पड़े।” इस रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली में जुलाई के बाद तीसरी लहर को काबू में लाने की तैयारी के लिए और लोगों की जान बचाने के लिए पूरी दिल्ली को 944 मीट्रिक टन ऑक्‍सीजन की जरूरत पढ़ेगी। इस रिपोर्ट को पढ़ने के बाद दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार को तैयारी करने का आदेश दे दिया है। साथ ही इसके संबंध में जानकारी मांगी है।