आधा’र कार्ड को लेकर सरकार उठाने जा रही है यह बड़ा क़द’म..

0
430

केंद्र सरकार ले सकती है आधा’र कार्ड और वोटर ID कार्ड को जो’ड़ने का बड़ा फ़ैस’ला। गुरुवा’र को संसद में कानूनी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने लोकसभा में पूछे गए जवाब के तौर पर यह जानकारी दी। इससे पहले आधा’र कार्ड से जुड़े सरकार के लिए फ़ैस’ले से वर्तमान में आधा’र कार्ड को बैंक अकाउंट, पैन कार्ड, राशन कार्ड, गैस सब्सिडी समेत अन्य सरकार स्कीम्स से लिंक करना अनिवार्य कर दिया गया है। अब सरकार आधा’र कार्ड को वोटर ID कार्ड से लिंक करने का फ़ैस’ला ले सकती है। बता दें कि सरकार ने पहले ही स्प’ष्ट रूप से कहा है कि अगर कोई व्यक्ति किसी भी सरकारी स्कीम्स का लाभ लेता है तो उन्हें आधा’र कार्ड से लिंक कराना ही होगा।

दरअसल गुरुवा’र को लोकसभा में आधा’र कार्ड और वोटर आईडी कार्ड को लेकर बहुत से सवाल उठाए गए थे। जिनके जवाब में सरकार ने यह बड़ा फ़ैस’ला लेने का निर्ण’य किया। सबसे पहले यह सवाल किया गया कि क्या चुनाव आयोग ने सरकार को आधा’र कार्ड और वोटर आईडी कार्ड से लिंक करने का प्रस्ताव दिया है? अगर ऐसा है तो सरकार इस पर विचार कर रही है या नहीं। क्या सरकार इस बात पर विचार कर रही है कि ऐसे कदम उठाते समय नागरिकों के व्यक्तिगत डेटा को कैसे सुरक्षित किया जाएगा। लोकसभा में एक सवाल यह भी पूछा गया कि वोटर्स की विश्वसनीयता के लिए और रिपीटीशन से बचने के लिए क्या किया जा रहा है?

कानूनी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने लोकसभा में पूछे गए सवालों के जवाब में कहा कि “किसी भी समस्या से मुक्त फ्री इलेक्टोरल रोल और आवेदनों के डुप्लीकेशन से बचने के लिए सरकार के सामने People, 1951 के संशोधन का प्रस्ताव आया है। इस संशोधन के बाद आधा’र कार्ड को इलेक्टोरल डेटा से लिंक किया जाएगा। आयोग के इस प्रस्ताव पर सरकार विचार कर रही है।” एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने संसद को बताया हैं कि “24 जनवरी 2020 तक 85 फीसदी सेविंग और क’रंट बैंक खातों को आधा’र से लिंक किया जा चुका हैं। साथ ही, 31 दिसंबर 2019 तक नेशनल पेमेंट कारपोरेशन ऑफ इंडिया की ओर से जारी आंक’ड़ों के मुताबिक, 59.15 करोड़ रुपे कार्ड बैकों ने जारी किए है।”

आपको बता दें कि 30 करोड़ से भी अधिक आधा’र कार्ड, पैन कार्ड से लिंक हो चुके हैं। आधार और पैन को लिंक करने की अं’तिम तारीख 31 मार्च 2020 है। इस मामले में केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिहं ठाकुर ने संसद में जानकारी देते हुए कहा कि “27 जनवरी 2020 तक कुल 30 करोड़ 2 हजार 824 लोगों ने पैन-आधा’र लिंकिंग प्रक्रिया को पूरा कर लिया है।” उन्होंने बताया हैं कि “पैन को आधा’र से जोड़ने का मकसद डुप्लीकेट पैन को छां’टकर असली की पहचान करना है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज ने आधा’र और पैन कार्ड को लिंक करने की अं’तिम तारीख बढ़ाकर 31 मार्च 2020 कर दी है। इसके पहले यह तारीख 31 दिसंबर 2019 थी।”