उत्तराखंड : जल्द खुलेगा नौकरियों का पिटारा, 19 हजार पद भरने की तैयारी

0
93

UKPSC Recruitment 2022: उत्तराखंड में सरकारी नौकरी की चाह रखने वाले युवाओं के लिए अच्छी खबर है। उत्तराखंड लोक सेवा आयोग (UKPSC) इस महीने के अंतिम सप्ताह में 519 पदों के लिए भर्ती विज्ञापन जारी करेगा, जिसकी लिखित परीक्षा अगले साल 5 मार्च 2023 को प्रस्तावित है। UKPSC exam calendar 2022: भर्ती परीक्षा कैलेंडर के अनुसार अगली भर्ती कनिष्ठ सहायक की है।

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग (UKPSC) ने 16 भर्तियों को लेकर परीक्षा कैलेंडर जारी किया है। अब तक इनमें से 5 भर्तियों के लिए कैलेंडर के अनुसार भर्ती विज्ञापन निकाले जा चुके हैं। इसी क्रम में अब विभिन्न विभागों में कनिष्ठ सहायक के लिए 519 पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया जाएगा। हालांकि इसकी अधियाचन में कुछ आपत्तियां थी, जो दूर कराई जा रही हैं।

UKPSC ने कमियों के चलते लौटाए हैं 12 भर्तियों के प्रस्ताव

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने बीते दिनों कनिष्ठ सहायक सहित अन्य भर्तियों के अधियाचन अधूरे होने के चलते सुधार के लिए लौटा दिए थे। इनमें कनिष्ठ सहायक भर्ती के अलावा पर्यावरण पर्यवेक्षक, प्रयोगशाला सहायक, मानचित्रकार, प्रारूपकार, अन्वेषक कम संगणक, सहायक सांख्यिकी अधिकारी, गन्ना पर्यवेक्षक, राजकीय दुग्ध पर्यवेक्षक, बागान पर्यवेक्षक जैसे कई अधियाचन शामिल हैं। जो किसी न किसी वजह से अधूरे हैं, जिन कमियों को इन विभागों को दूर करना होगा। इनमें ज्यादातर भर्तियों में आरक्षण की स्थिति स्पष्ट नहीं है, कई रिक्त पदों का आंकड़ा सही नहीं है और कुछ में सेवा नियमावली पद के हिसाब से नहीं है।

Govt jobs in Uttarakhand 2022 : उत्तराखंड में 19 हजार पदों पर भर्तियां जल्द

बीते कल शनिवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि, जल्द ही 19 हजार रिक्त पदों पर भर्ती के लिए विज्ञप्तियां जारी कर दी जाएंगी। अल्मोड़ा जिले में दो दिवसीय प्रवास के दौरान जनसंवाद में उन्होंने कहा कि, पांच हजार रिक्त पदों पर दिसंबर तक भर्ती प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। सभी विभागों की ओर से उनके वहां खाली रिक्तियों की सूची भी तैयार कर ली गई है। जल्द 19 हजार पदों पर भी भर्ती प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। बता दें कि, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पिछले दिनों अधिकारियों को निर्देशित किया था कि, विभिन्न विभागों के रिक्त पदों के अधियाचन यथाशीघ्र आयोग को भेजें, जिससे भर्ती प्रक्रियाओं में तेजी आ सके।