उत्तर प्रदेश के इस शहर में टूटा कोरोना का कहर, एक ही हफ्ते में खत्‍म हुआ हंसता खेलता पर‍िवार, अब सिर्फ…

0
110

कोरोना वायरस की दूसरी लहर किसी को भी नहीं बक्श रही है। जहां देखो वहां हालात खराब दिखाई दे रहे हैं। हाल ही में उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर से एक ऐसी दर्दनाक खबर सामने आई है। जिसको सुनकर हर किसी की आंख में आंसू आ जाएं। दरअसल, यहां कोरोना के कहर के कारण एक ही परिवार के सभी सदस्यों ने अपनी जान गवां दी। हैरान करने वाली बात तो ये है कि ये सिर्फ कुछ दिनों में हुआ। सिर्फ एक ही हफ्ते में कोरोना वायरस ने इस परिवार को पूरी तरह तहस नहस कर दिया। अब परिवार में केवल एक 3 साल का बच्चा और उसकी बूढ़ी दादी बची हैं।

बता दें कि ये मामला बुलंदशहर के लक्ष्मीनगर कालोनी का है। यहां रहने वाले धर्मराज सिंह के परिवार को कोरोना ने पूरी तरह नष्ट कर दिया। धर्मराज सिंह पेशे से वकील थे। करीब 7 दिन पहले उन्हें हल्का बुखार और खासी शुरू हुई। साथ ही उन्हें सांस लेने में भी परेशानी थी। जिसके कारण उनको एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। इस द्वारा उनका कोरोना का टेस्ट हुआ और वो पॉजिटिव पाए गए। इस बीच अस्पताल में इलाज के दौरान उनका निधन हो गया।

उनके निधन से घर वालों को बड़ा झटका लगा क्योंकि वह घर के मुखिया थे। उनकी मौत की खबर सुनकर उनकी भाभी साधना को सदमा लगा और वह भी चल बसी। इस दौरान अंत्येष्टि स्थल से साधना की चिता से अस्थियों के फूलों को चुना भी नहीं गया था कि धर्मराज सिंह की विधवा बहू का भी निधन हो गया। इसके बाद अब घर में केवल एक तीन साल का बच्चा और धर्मराज सिंह की बुजुर्ग पत्नी सुषमा बची हैं। इस खबर को सुनते ही सबके रोंगटे खड़े हो रहे हैं। फिलहाल ये परिवार पूरे शहर में चर्चा का कारण बना हुआ है।