शिवसेना ने किया राज्यपाल के फैसले का विरोध, फ्लोर टेस्ट के खिलाफ पहुंची सुप्रीम कोर्ट…

0
54

महाराष्ट्र में लगातार सियासी संकट बढ़ता जा रहा है। आए दिन कोई न कोई ऐसी खबर सामने आ रही है, जिससे शिवसेना की मुसीबत और बढ़ती जा रही है। एकनाथ शिंदे और बाकी के नेताओं द्वारा बगावत करने के बाद से अब तक राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की परेशानियों में सिर्फ इजाफा ही हुआ है। हाल ही में महाराष्ट्र के राज्यपाल की ओर से एक आदेश जारी किया गया था, जिसमें उन्होंने फ्लोर टेस्ट कर महाराष्ट्र सरकार को सदन में बहुमत साबित करनी होगी। लेकिन महाविकास अघाड़ी सरकार राज्यपाल के इस फैसले से सहमत नहीं है।

जिसके चलते महाविकास अघाड़ी सरकार ने इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है। शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दायर कर महाराष्ट्र के राज्यपाल के उस निर्देश को चुनौती दी है। जानकारी के अनुसार आज ही सुप्रीम कोर्ट इस मामले पर सुनवाई कर सकती है। सूत्रों की मानें तो राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस के कहने पर राज्यपाल ने ये आदेश जारी किया है। बताया जा रहा है कि आदेश जारी करने से पहले ही महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस ने राज्यपाल कोश्यारी से मुलाकात हुई थी।

राज्यपाल कोश्यारी से मुलाकात से पहले फडणवीस को दिल्ली में देखा गया था। सूत्रों का कहना है कि वह दिल्ली में गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिलने पहुंचे थे। बता दें कि राज्यपाल के इस फैसले के खिलाफ शिवसेना नेता संजय राउत ने भी बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि “हम महाराष्ट्र के राज्यपाल के फ्लोर टेस्ट के लिए बुलाने के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जा रहे हैं। यह एक गैरकानूनी गतिविधि है, क्योंकि हमारे 16 विधायकों की अयोग्यता का मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है। राज्यपाल को बस इसी पल का इंतजार था। संविधान की धज्जियां उड़ रही हैं, सुप्रीम कोर्ट को दखल देना चाहिए। महाराष्ट्र में अगर आप गैरकानूनी काम करेंगे तो जनता देख रही है।