सदन में बहुमत साबित करेंगे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, भाजपा की कोशिशें…

0
17

मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र की तरह भाजपा दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार को भी तोड़ने की कोशिशों में जुटी हुई है। इस बीच खबर आई थी कि भाजपा ने आम आदमी पार्टी को तोड़ने के लिए आप के विधायकों को दलबदली के लिए 20 करोड़ का ऑफर दिया था। इस बीच एक पल को आम आदमी पार्टी परेशानी में आ गई थी। कहा जा रहा था कि पार्टी का अपने कई विधायकों के साथ संपर्क टूट चुका है। जिसके कारण आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने अपने आवास पर एक अहम बैठक भी रखी थी।

पार्टी के विधायकों से आप का संपर्क टूटा या नहीं, फिलहाल इसको लेकर कोई भी जानकारी हासिल नहीं हुई है। लेकिन खबर है कि आज दिल्ली की आम आदमी पार्टी सदन में प्रस्तावित विश्वास मत पेश करेगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सदन में बहुमत साबित कर इस बात को साफ कर देंगे कि उनका किसी भी विधायक के साथ कोई संपर्क नहीं टूटा है और पार्टी में विधायकों की एकता अब भी बरकरार है। बता दें कि पिछले कुछ दिनों से दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी परेशानियों से जूझ रहे हैं।

इन दिनों वह सीबीआई की जांच का सामना कर रहे हैं। सीबीआई ने हाल ही में दिल्ली की शराब नीति में कथित अनियमितताओं और भ्रष्टाचार से संबंधित एक मामले में सिसोदिया के ठिकानों पर छापा मारा था। इस छापे के बाद मनीष सिसोदिया का भी कहना था कि भाजपा ने उनको भी दल बदली का ऑफर दिया था। उनसे कहा गया था कि उनके ऊपर से सभी आरोप खत्म कर दिए जाएंगे।