गणतंत्र दिवस पर करतब दिखाकर, देश की पहली महिला फाइटर पायलट बनी भावना…

0
42

72वें गणतंत्र दिवस (72nd Republic Day) के मौके पर भारत में पहली बार लड़ाकू विमान राफेल ने करतब दिखाए। हर बार की तरह इस बार भी भारतीय वायु सेना ने फाइटर प्लेन से करतब दिखा के लोगों का दिल जीत लिया। बीते सालों के मुक़ाबले इस साल के करतब से लोग ज़्यादा हैरान हैं। क्यूंकि इस बार 26 जनवरी पर परेड का हिस्सा एक महिला बनी। गणतंत्र दिवस फ्लाई-पास्‍ट (Republic Day fly-past) में भाग लेने वाली वह देश की पहली महिला हैं।

फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कंठ (Flight Lieutenant Bhawana Kanth) गठतंत्र दिवस समारोह (Republic Day) में हिस्सा लेने वाली पहली महिला फाइटर पायलट (First Women Fighter Pilot) हैं। गौरतलब हैं कि भावना कांत को भी साल 2016 में पहली महिला लड़ाकू पायलट के रूप में भारतीय वायुसेना में शामिल किया गया था। उन्‍होंने अपनी पहली अकेली (Solo) उड़ान, MiG-21 Bison में मार्च 2018 में भरी और वह इस समय वेस्‍टर्न सेक्‍टर के फाइटर बेस में तैनात हैं।

साल 2016 में अवनी चतुर्वेदी और मोहना सिंह के साथ भावना को भारतीय वायुसेना (IAF) के फाइटर स्‍ट्रीम के लिए चुना गया था। बता दें कि लेफ्टिनेंट भावना कंठ बिहार (Bihar) के दरभंगा की रहने वाली। वह बेगूसराय में पली बड़ी हैं। बेगूसराय में उनके पिता IOCL में इंजीनियर थे। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा बरौनी रिफाइनरी डीएवी पब्लिक स्कूल (School) से पूरी की और बेंगलुरु के बीएमएस कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से मेडिकल इलेक्ट्रॉनिक्स में इंजीनियरिंग की ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की। बता दें कि फ्लाइट लेफ्टिनेंट तनिक शर्मा ने IAF के दल की अगुवाई की जिसमें 96 एयरमैन और चार ऑफिसर थे, इसमें 12 बाय 8 के फॉर्मेशन में एयर वॉरियर थे।